गुजरात का हिम्मतवाला, भिड़ा तेंदुए से, जानें फिर क्या हुआ


(Photocredit: navgujaratsamay.com)

कोसंबा के पास धामलोद गांव में सोमवार को अचानक एक चौंकाने वाली घटना बन गई। सुबह के लगभग साड़े 4 बजे का समय था। दिनेश सोमाभाई के घर में तेंदुआ घुस आया।

(Photocredit: navgujaratsamay.com)

घर में तेंदुए ने दिनेश के भानजों पर हमला करने का प्रयास किया। तेंदुए की आवाज़ सुनकर दिनेश सोमभाई की नींद खुल गई तथा उन्होने देखा की तेंदुआ उनके परिवार जनों पर हमला करने वाला है तथा अपने डर पर काबु पा कर उन्होने तुरंत तेंदुए से भिड़ने का मन बना लिया क्युंकि यदी वे एक पल भी और इंतज़ार करते तो शायद अपने साथ-साथ अपने परिवार जनों को भी तेंदुए के हातों मरते देखना पड़ता। इस भक्षक पशु के साथ दिनेश ने हाथापाई मोल ली, परिवार जनों की जान बचाने के लिए मरो या मारो की जंग लड़ रहे दिनेश ने हिंसक स्वरूप वाले तेंदुए को कड़ी टक्कर दी।

(Photocredit: navgujaratsamay.com)

लड़ाई का दृष्य ऐसै प्र‌ितीत हो रहा था कि मानो किसी फिल्म का दृष्य हो। घर में मौजूद बाकी सभी लोग इस दौरान भाग कर बाहर निकले तथा मदद के लिए चिल्लाने लगे, सुबह के इस वक्त यह पुकार सुन कर आस पास के सभी लोग उनके समीप आ गए। परिवार को बचाने के लिए तेंदुए के साथ इस युद्ध में तेंदुए को आखिरकार हार का सामना करना पड़ा तथा अंत में तेंदुआ इस लड़ाई में मारा गया। हालांकि, हाथापाई के दौरान दिनेश को गंभीर चोटें भी आईं। उन्हें देखभाल के लिए खारोड़ के वेलकर अस्पताल में भर्ति किया गया।
इसके बाद पुलिस तथा जंगल विभाग भी घटना की जानकारी प्राप्त होते ही धटना स्थल पर पहुंचे तथा वन विभाग के अधिकारियों ने तेंदुए की लाश को कब्ज़े में लिया।