एक झूठ को बार-बार दोहरा कर सच साबित करना चाहते हैं राहुल : शाह


शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस झूठ बोलती है और उसे दोहराती है। वह बार-बार झूठ दोहरा कर झूठ को सच साबित करना चाहती है।
Photo/EMS

अहमदाबाद। भाजपा प्रमुख अमित शाह ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस झूठ बोलती है और उसे दोहराती है। वह बार-बार झूठ दोहरा कर झूठ को सच साबित करना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को राफेल सौदे पर अपने बयान के लिए शीर्ष अदालत से नोटिस मिला है।

उन्होंने जूनागढ़ लोकसभा क्षेत्र से पार्टी उम्मीदवार के लिए गिर सोमनाथ के कोदिनार में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा उच्चतम न्यायालय ने प्रारंभिक तकनीकी आपत्ति पर राफेल मामले की सुनवाई की। उच्चतम न्यायालय ने अपना आदेश पारित किया और राहुल बाबा कहने लगे कि शीर्ष अदालत ने राफेल मुद्दे पर सरकार को फटकार लगाई थी। हकीकत में ऐसा कुछ नहीं हुआ था।
शाह ने कहा अदालत ने केवल एक प्रारंभिक आपत्ति हटाने का काम किया था। मामला अभी भी चल रहा है और पहले भी सुना गया है। लेकिन राहुल गांधी बार-बार बोलना शुरू कर दिया। भाजपा के एक सांसद ने अवमानना नोटिस दिया और आज, उच्चतम न्यायालय ने नोटिस जारी किया है और राहुल गांधी को यह बताने के लिए कहा है कि उन्होंने क्या कहा था। भाजपा प्रमुख ने आरोप लगाया झूठ बोलना और उसे जोर से बोलना तथा उसे बार-बार कहना कांग्रेस पार्टी का स्वभाव बन गया है।

उन्होंने रामपुर लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के लिए समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान पर भी निशाना साधा। शाह ने कहा कि खान, सपा और उत्तर प्रदेश में उसकी सहयोगी बसपा को इस घिनौने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के खिलाफ मुहिम चलाने के लिए विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा। भाजपा नेता ने दावा किया कांग्रेस हार से डर गई है।

पहले वे हार का कारण ईवीएम पर डालते थे। अब पहले चरण का चुनाव हो चुका है। उनका कहना है कि भाजपा ईवीएम के कारण जीतेगी जिससे पता चलता है कि कांग्रेस पार्टी ने हार स्वीकार कर ली है। चुटकी लेते हुए शाह ने कहा कि बालाकोट हवाई हमले के बाद कांग्रेस और पाकिस्तान ‘शोक’ मना रहे थे। उन्होंने कहा देश भर में युवा जब पटाखे जला रहे थे, मिठाइयां बांट रहे थे, शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे थे, दो जगहों पर शोक मनाया जा रहा था।

– ईएमएस