सूरत सहित राज्य के सभी बड़े शहरों में चौबीसों घंटे खुले रहेंगे व्यावसायिक प्रतिष्ठान


राज्य सरकार द्वारा लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय के अंतर्गत अब २४ घंटे दुकानें, मॉल्स और बाजार खुले रखे जा सकेंगे।
Photo/Flickr

अहमदाबाद। राज्य में बाजार रात को १२ बजे तक खुले रहा करते थे। लेकिन अब राज्य सरकार द्वारा लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय से राज्य के शहरों की रौनक ही बदल जायेगी। राज्य सरकार ने लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस निर्णय के अंतर्गत अब २४ घंटे दुकानें, मॉल्स और बाजार खुले रखे जा सकेंगे। यानि सूरत वासियों के लिये खुशखबर है, कि वे रात में भी मॉल्स और रेस्तरां सहित बाजार में घूमफिर सकेंगे।

यानि गुजरात के बड़े शहरों में राष्‍ट्रीय राजमार्गों, रेलवे प्लेटफोर्म, एसटी बस स्टेशनों, अस्पतालों या पेट्रोल पंपों पर स्थित दुकानें, होटल, रेस्टोरेंट, सिनेमागृह, दवाई की दुकानें या अन्य व्यावसायिक संस्थान चौबीस घंटे खुले रखे जा सकेंगे। पुलिस या अन्य कोई प्रशासन दुकानें बंद नहीं करवा सकेंगे।

यद्यपि राज्य के छोटे शहरों, ग्रामीण इलाकें में स्थित दुकानों, होटलों या अन्य संस्थानों पर यह नियम लागू नहीं होगा। वे चौबीस घंटे खुली नहीं रखी जा सकेंगी। राज्य के श्रम और रोजगार विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव विपुल मित्रा ने मीडिया को बताया कि राज्यपाल से इस बाबत मंजूरी मिल जाने के बाद अब चुनाव आयोग से इस पर मंजूरी की मोहर लगाने की मांग की गई थी। मंगलवार को मध्यरात्रि से अब यह कानून अमल में आ गया है।

इस कानून के अंतर्गत महानगर पालिका के क्षेत्र में समाविष्ट महानगरों, नेशनल हाईवे, रेलवे स्टेशनों, एसटी बस स्टेशनों, अस्पतालों या अन्य कोई भी व्यावसायिक संस्थान चौबीस घंटे खुले रखे जा सकेंगे। हालांकि नगरपालिका क्षेत्र में स्थित या राज्यीय राजमार्गों पर स्थित संस्थान रात्रि २ से सुबह ६ बजे के अलावा अन्य किसी भी समय खुले रखे जा सकेंगे। इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में रात्रि ११ से सुबह ६ बजे को छोड़ शेष समय में व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले रखे जा सकेंगे। शहरों में कामकाजी समय अधिक होने के कारण लोगों को ख्ररीदारी का समय नहीं मिलता, इस दलील के आधार पर चौबीसों घंटे व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले रखने संबंधी कानून में यह सुधार राज्य सरकार ने किया है।