हाथ में त्रिशूल का निशान होता है बेहद शुभ


Image : EMS

हाथों के निशान भी हमारे बारे में काफी कुछ बताते हैं। सनातन धर्म में हस्तरेखा को एक प्रकार से विज्ञान की तरह माना जात है। इससे जीवन में आने वाली कठिनाइयों के बारे में पहले ही जाना जा सकता है ताकि हम कुछ हद तक उसका सामना करने के लिए अपने को तैयार कर सकें।

हस्तरेखा ज्योतिष में लोगों की हाथ की लकीरें और निशान देखकर उनके भविष्य के बारें में कई बातों का पता लगाया जा सकता है। हथेली पर कई निशान होते है इन्हीं निशानों में से एक निशान ऐसा होता है जो हजार लोगों में से एक व्यक्ति के हाथ में बना होता है। यह निशान होता है त्रिशूल। हथेली पर अलग-अलग जगह पर बने त्रिशूल के निशान के अर्थ भी अलग होते हैं। यदि ह्रदय रेखा के सिरे पर गुरु पर्वत के समीप त्रिशूल का निशान हो ऐसा व्यक्ति बेहद प्रतिभाशाली होता है।

सूर्य रेखा पर त्रिशूल का निशान होने पर उच्च पद और सरकारी क्षेत्र की प्राप्ति होती है। वहीं त्रिशूल के चिन्ह के साथ अन्य रेखाएं होने पर परिणाम विपरीत होंगे। यदि ये चिन्ह भाग्य रेखा पर हो तो वह व्यक्ति बहुत ही भाग्यशाली होता है और उसे सभी सुखों की प्राप्ति होती है।वहीं जिसकी हाथ की दस उंगल‌ियों में भगवान व‌िष्‍णु के प्रतीक चक्र का चिन्ह हो वह चक्रवर्ती होता है। ऐसी रेखाओं से मिलती है हर कदम पर सफलता।