‘जय श्री राम’ के कारण निशाने पर ममता, दे रहे है कुछ भी उपमा!


(Photo Credit : youtube.com)
Photo/Loktej

पिछले दिनों बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वह कुछ लोगों द्वारा जय श्रीराम का नारा लगाने पर भड़कती हुई नजर आ रहीं थीं। इसके बाद वो सोशल मीडिया पर ट्रोल होना चालू हो गई थी। सोशल मीडिया पर उनको इंगित करके तरह तरह के स्लोगन शेयर किए जाने लगे थे। और तो ओर इसके बाद भाजपा ने ममता बनर्जी को जय श्रीराम लिखे 10 लाख पोस्टकार्ड भेजने का अभियान चलाया। जवाब में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वन्दे मातरम, जय हिंद और जय बांग्ला लिखे हुए 10,000 पोस्टकार्ड भेजे थे।

सोशल मीडिया पर तो जिसको देखो वही ममता दीदी को जय श्री राम का संदेश दे रहा था। इन सबके बीच भाजपा के बंगाल प्रभारी ने ट्वीट किया था कि मैं चुनाव परिणाम के बाद पहली बार बंगाल जा रहा हूँ, किसी को ममता दीदी से कुछ कहना है क्या? लोगो ने जय श्री राम बोलने का आग्रह किया था।

कल ईद के मौके पर ममता ने कहा कि बंगाल में किसी को डरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि हम हिंदू-मुस्लिम, सिख और ईसाई सभी धर्मों की रक्षा करेंगे। जो टकराएगा, चूर-चूर हो जाएगा। ये हमारा नारा है। इससे पहले ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने कहा कि भाजपा वाले अब बंगाल में जय श्रीराम की जगह जय मां काली बोलने लगे हैं। लगता है राम की टीआरपी कम हो गई।
अब इस पूरे प्रकरण पर उत्तराखंड भाजपा के अध्यक्ष और नैनिताल ऊधमसिंह नगर लोकसभा सीट से जीतने वाले सांसद अजय भट्ट ने एक नया विवाद जोड़ दिया है। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तुलना सांड़ से कर दी है। सांसद अजय भट्ट ने कहा कि जब कोई जय श्री राम का नारा लगाता है तो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ऐसे भड़क जाती हैं, जैसे किसी सांड़ को लाल कपड़ा दिखा दिया गया हो।

अजय भट्ट ने कहा कि मुझे नहीं पता ममताजी राम चंद्रजी से इतनी घृणा क्यों करती हैं। मैनें एक वीडियो देखा जिसमें जय श्री राम का उद्घोष सुनकर वह ऐसे तिलमिला रहीं थी, जैसे किसी मधुमक्खी का छत्ता छू लिया हो। भगवान राम सबके प्रिय हैं। बहुत से लोग हेलो की जगह जय श्री राम कहना पसंद करते हैं। इससे उन्हें समस्या क्या है?

वीडियो तो हमने भी देखा था। अपने स्वभाव के अनुरूप वो जोर जोर से बोल रही थी, अधिकारियों को निर्देश दे रही थी। भड़क भी रही थी, तभी तो वो दोबारा गाड़ी से उतरी थी। लेकिन दीदी यह भूल गई कि श्रीराम सभी हिंदुओ के आराध्य है। वो किसी पार्टी विशेष के नही है, तो इस नारे पर भड़कना क्यो? न सिर्फ हिन्दू धर्मावलंबी बल्कि संसार के हर मनुष्य के लिए आदर्श है श्री राम। तो उनके नाम से भड़किये मत, बल्कि अच्छा प्रतिसाद दीजिये। देश की जनता आपको स्वीकारेगी, कभी भी दुत्कारेगी नही, जैसे अभी हो रहा है।