संतरे का जूस पीकर बढाइए याददाश्त


एक शोध में बताया गया है कि संतरे का जूस और बेर जैसे फलों का सेवन करने से याददाश्त तेज होती है।
Photo/Wikipedia
बुढ़ापे में भी याददाश्त को रख सकते हैं दुरुस्त

बोस्टन। एक शोध में बताया गया है कि संतरे का जूस और बेर जैसे फलों का सेवन करने से याददाश्त तेज होती है। खासकर पुरुषों में इसका ज्यादा असर होता है। एक रिपोर्ट के अनुसार 51 साल की औसत उम्र वाले 27,842 लोगों पर शोध के बाद यह निष्कर्ष निकाला गया है। शोध की शुरुआत में इन सभी लोगों से उनके रोजमर्रा के खाने में फल, सब्जी एवं अन्य भोजन के बारे में जानकारी ली गई। अगले 20 साल तक हर चार साल के बाद इन सभी लोगों से यह जानकारी ली गई। यह पहली बार है जब भोजन और याददाश्त में संबंध का पता लगाने के लिए इतने सारे लोगों का इतने लंबे समय तक निरीक्षण किया गया।

इस शोध से उत्साहित अमेरिका के हार्वर्ड टीएच चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर चांगझेंग युआन ने कहा कि इस अध्ययन से एक बार फिर साबित हुआ है कि सही भोजन को अपनाकर दिमाग की सेहत को ठीक रखा जा सकता है। इस शोध के खत्म होने से चार साल पहले इसमें शामिल सभी लोगों की याददाश्त को जांचने के लिए टेस्ट किए गए। तब इन सभी प्रतिभागियों की औसत उम्र 73 साल की हो चुकी थी। इनमें से 55 फीसदी लोगों की याददाश्त बिल्कुल ठीक निकली। जबकि 38 फीसदी सामान्य याददाश्त वाले पाए गए। प्रतिभागियों द्वारा सेवन किए जा रहे फल एवं सब्जी की मात्रा के आधार पर उनके पांच समूह बनाए गए। ज्यादा फल-सब्जी खाने वाले को टॉप ग्रुप में रखा गया जबकि सबसे कम फल-सब्जी का सेवन करने वालों को नीचे के समूह में रखा गया। 20 साल के आंकड़ों के अध्ययन के बाद पता चला कि ज्यादा फल-सब्जी खाने वालों की याददाश्त अच्छी पाई गई। उम्र बढ़ने के साथ भूलने की बीमारी होना आम है, लेकिन सेहतमंद खान-पान को अपनाकर आप इस पर जीत हासिल कर सकते हैं यानी बुढ़ापे में भी अपनी याददाश्त को दुरुस्त रख सकते हैं।

– ईएमएस