9 साल में हजारों अवैध गर्भपात, रात 12 से सुबह 6 बजे तक करता था गर्भपात


सांगली । महाराष्ट्र की सांगली से लगभग 30 किलोमीटर दूर मेहसाणा के लोगों का गुस्सा एक डॉक्टर पर देखने को मिला। कुछ दिन पहले तक किसी को पता नहीं था, कि यह डॉक्टर इस तरह का अनैतिक कृत्य कर रहा है। डॉक्टर बाबा साहब खिद्रापुरे अपने निजी भारती अस्पताल में वर्षों से अवैध गर्भपात करने का काम करके लाखों रुपए महीने कमा रहा था। यह मामला तब सामने आया, जब गर्भपात के दौरान एक महिला की मौत हो गई। जांच के बाद इस अस्पताल के पास ही 19 भ्रूण अस्पताल परिसर की जमीन में गड़े हुए पाए गए। प्राप्त जानकारी में यह डॉक्टर पिछले 9 साल से अवैध गर्भपात करने का काम कर रहा था। इस काम में दूसरे दो डॉक्टर भी उसे सहयोग कर रहे थे।
कर्नाटक के कागवाड का डॉक्टर श्रीहरि घोडके और बिजापुर का डॉक्टर देवगीकर भी इस अवैध काम में शामिल थे। डॉक्टर घोडके के पास दो सोनोग्राफी मशीनें थी। इसमें एक मशीन वह हमेशा गाड़ी में रखता था। गाड़ी में ही लिंग परीक्षण का काम करता था। पुलिस जांच के दौरान पता लगा कि डॉक्टर घोड़के के पास कोई डिग्री नहीं है। वह बोगस डॉक्टर है। यह तीनों डॉक्टर मिलकर महिलाओं को गर्भपात कराने के लिए उकॊसाते थे। एक गर्भपात के लिए 20 से 25 हजार वसूल करते थे। डॉक्टर खिद्रापुरे और डॉक्टर घोडके के पास सोनोग्राफी मशीन रखने के लाइसेंस भी नहीं मिले। पुलिस और स्वास्थ्य विभाग इस मामले पर कार्यवाही कर रही है