स्मार्ट फोन से हो रही डायबिटीज और तनाव


भोपाल। स्मार्ट फोन ने लोगों को सोशल मीडिया से जोड़ दिया है। इंटरनेट, वाट्स एप, तथा पेâस बुक में घंटों समय व्यतीत करने से अब इसका नशा युवाओं के साथ साथ पूरे परिवार में दिखने लगा है।
सोशल मीडिया में अधिकांश समय बिताने के बाद अब डायबिटीज और तनाव जैसी बीमारियों के मरीज बनकर सामने आ रहे हैं। भोपाल के मनोवैज्ञानिकों और डाक्टरों का कहना है कि पिछले एक वर्ष में सोशल मीडिया से जुड़े लोगों में डायबिटिज और तनाव के मरीज बढ़ गया है। सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने वाले नोम्बो फोबिया की बीमारी के शिकार हो रहे हैं।
पेâसबुक और वाट्स एप और मोबाइल पर कुछ कर रहे होते हैं। और कोई डिस्टर्व करता है तो बहुत गुस्सा आ जाता है। इसके चलते कई बार ऐसी प्रतिक्रिया करती है जिसमें बाद में पछतावा भी होता है। सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव रहने से तनाव का स्तर बढ़ने के केस बढ़ रहे हैं। खासकर मध्य आयु वर्ग की उन महिलाओं में यह परेशानी तेजी से बढ़ रही है। डाक्टरों के पास ऐसे कई मामलों में स्टेट्स का लेबल इतना अधिक पहुंच जाता है कि छोटे बच्चों की पिटाई तक की स्थिति आ जाती है। डायबिटीज के ऐसे मरीजों में शुगर लेवल वंâट्रोल से बाहर होने के कई मरीज भी सामने आ रहे हैं। विशेषज्ञ इसके लिए सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव होने को कारण बता रहे हैं। डाक्टरों का कहना है कि सोशल मीडिया से ज्यादा लगाव परिवार के लिए परेशानी पैदा कर रहा है।
मनोवैज्ञानिक विनय मिश्रा के अनुसार मोबाइल सोशल मीडिया की आदत पर अंकुश लगाना बहुत ही कम लोगों को आता है। अधिकांश देखा गया है कि सोशल मीडिया पर सर्चिंग करने वालों के पास समय सीमा नहीं होती।
कहीं आप नोमोफोबिया के शिकार तो नहीं-
मनोवैज्ञानिक विनय मिश्रा का कहना है कि जो लोग स्मार्ट फोन पर निर्भर हो जाते हैं। तो वैज्ञानिक वह काफी चीजों से कट जाते हैं ऐसे में बच्चों या बाकी लोगों के साथ होने के बावजूद वे उनसे मानसिक रूप से दूर हो जाते हैं। इसको नोमोफोबिया कहा जाता है। इसका मतलब है कि उन्हें फोन का एडिएक्शन होने से आसपास की दुनिया से दूर कर देता है।
डायबिटीज एक्सपर्ट डाक्टर अविनाश वर्मा के अनुसार उनके पास तीन तरह की औसतन तीन चार महिला मरीज इलाज के लिए आती हैं जिन्हें सोशल मीडिया की लत है। इसकी वजह से इनका अधिकांश प्रâी टाइम मोबाइल के साथ बीतता है। डाक्टर यह एक प्रकार का एडिक्शन है जो किसी को भी हो सकता है।