स्तन वैâंसर की कारगर दवा मिलने का दावा


लंदन। वैज्ञानिकों ने एक ऐसे वंâपाउंड की पहचान की है, जो प्रयोग के दौरान मेटास्टैटिक स्तन वैंâसर को चूहों के शरीर में पैâलने से रोकने में पूरी तरह कामयाब रहा। दरअसल मेटास्टैसिस एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें वैंâसर शरीर के बेहद अहम अंगों- दिमाग या पेâफड़ों तक में पैâल जाता है। वैंâसर से होने वाली अधिकतर मौतों की वजह मेटास्टैसिस ही है। शोधकर्ताओं के हालिया अध्ययन में मेटास्टैटिक ब्रेस्ट वैंâसर की वजह बनने वाले जीन की अहम भूमिका का पता चला है। अभी तक इस जीन के इस रोल के बारे में साइंटिस्ट्स को जानकारी नहीं थी। र्कािडफ यूनिर्विसटी के एक शोधकर्ता के मुताबिक इस जीन के प्रभाव को दबा देने से वैंâसर को पैâलने से रोकने में ८० प्रतिशत तक कामयाबी मिली है। इस वक्त ऐसी नई दवाओं को खोजे जाने की जरूरत है, जो इस बीमारी को रोकने या कम से कम इसका असर कम करने में मदद करें। वैज्ञानिकों ने प्रयोग के दौरान एक ऐसा वर्चुअल वंâपाउंड तैयार किया, जिसमें इस ब्रेस्ट वैंâसर के जीन के असर को कम करने की काबिलियत है। इस वंâपाउंड को बाद में चूहों पर प्रयोग किया गया, जिसके बेहद पॉजिटिव नतीजे निकले।