मधुमेह व मोटापे का इलाज होगा आसान


टोरंटो। अब मधुमेह (डायबिटीज) और मोटापे का इलाज असानी से होगा। इन दोनो बीमारियों से परेशान लोग अब मीठा भी खा सवेंâगे। इसका कारण यह है कि वैश्रानिकों ने एक ऐसे एंजाइम की खोज की है जो शरीर में अतिरिक्त चीनी को नष्ट कर देता है और विभिन्न अंगों पर शक्कर के पड़ने वाले दुष्प्रभावों पर रोक लगा देता है। शोधकर्ताओं ने बताया कि यह खोज मोटापे और टाइप-टू डायबिटीज के उपचार में प्रभावी हो सकती है। वैज्ञानिकों ने इस एंजाइम को ाqग्लसरॉल-३ फास्पेâट फास्पेâटेस (जी३पीपी) नाम दिया है। वैज्ञानिकों की इस टीम में एक भारतवंशी भी शामिल हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार, जी३पीपी ग्लूकोज (शर्वâरा) और पैâट (वसा) को नियंत्रण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यूनिर्विसटी ऑफ मांट्रियल हााqस्पटल रिसर्च सेंटर (सीआरसीएसयूएम) में डॉ. मार्वâ प्रेंटकी और र्मूित मदिराजू के नेतृत्व में वैज्ञानिकों की टीम ने साबित किया कि जी३पीपी कोशिकाओं से अतिरिक्त चीन के विषाक्त पदार्थो को हटाने में सक्षम है। यूनिर्विसटी ऑफ मांट्रियल में प्रोपेâसर प्रेंटकी ने कहा, ‘जब शरीर में शर्वâरा की मात्रा असामान्य रूप से बढ़ जाती है, तब ग्लूकोज कोशिकाओं में अधिक मात्रा में ाqग्लसरॉल-३ फास्पेâट उत्पन्न होता है। अत्यधिक ाqग्लसरॉल ३ फास्पेâट उपापचय विभिन्न कोशिकाओं को नष्ट कर सकता है।’जी३पीपी इस अतिरिक्त ाqग्लसरॉल फास्पेâट को समानुपात में ाqग्लसरॉल में बदल कोशिकाओं से बाहर कर देता है। यह पैंक्रियाज (अग्नाशय) के बीटा सेल्स को उत्पन्न कर इंसुलिन तथा कई अंगों की शर्वâरा के उच्च स्तर के हानिकारक प्रभावों से रक्षा करता है।