बीमारी के साथ-साथ मोटापे का भी कारण बनता है अस्वस्थ खानपान


नई दिल्ली। निरोगी और स्वस्थ शरीर के लिए आहार का विशेष महत्व है। अब ये बात नए शोध में भी साबित हो गई है कि अस्वस्थ खानपान मोटापे और अन्य गंभीर रोगो का खतरा बढ जाता है। शोध के परिणामो से पता चला है कि अस्वस्थ आहार हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है। जिससे वजन बढ़ने और मोटापे के अन्य लक्षण पैदा हो सकते हैं। इस शोध में अध्ययनकर्ताओं ने प्रतिरक्षा प्रणाली पर उच्च वसायुक्त पाqश्चमी शैली के आहार के प्रभावों का अध्ययन किया। जिससे दो आश्चर्यजनक परिणामों का खुलासा हुआ। न्यू साउथ वेल्स विश्वविद्यालय में शोधार्थी एबिगेल पोलॉक के अनुसार हमारा शोध बताता है कि क्या हमें पता लगने से पहले ही अस्वस्थ आहार के कारण शरीर का वजन बढ़ने लगता है। हमने पाया है कि संतृप्त वसा का अधिक सेवन कुपोषण का ही एक रूप है। जिसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए। निरोगी और स्वस्थ शरीर के लिए आहार का विशेष महत्व है। अब ये बात नए शोध में भी साबित हो गई है कि अस्वस्थ खानपान मोटापे और अन्य गंभीर रोगो का खतरा बढ जाता है। शोध के परिणामो से पता चला है कि अस्वस्थ आहार हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है। जिससे वजन बढ़ने और मोटापे के अन्य लक्षण पैदा हो सकने वाली वसा के प्रभावों की जांच की। उस जांच में शोध के परिणाम निकल कर आए।