दिमाग को स्वस्थ बनाती है गहरी नींद


मुंबई। जब आप सोते हैं, तब आपके माqस्तष्क में कुछ जीन जागृत हो जाते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि माqस्तष्क की मरम्मत व माqस्तष्क कोशिकाओं के विकास के लिए ये जीन बहुत महत्वपूर्ण हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि पर्याप्त नींद से विशिष्ट माqस्तष्क कोशिकाओं का निर्माण तेज होता है। इन कोशिकाओं को ओलिगोडेंड्रोसाइट्स कहा जाता है, जो माqस्तष्क के चारों ओर सुरक्षात्मक कवच तैयार करती हैं। स्वस्थ माqस्तष्क में ओलिगोडेंड्रोसाइट्स माइलीन सुरक्षात्मक कवच का निर्माण करती हैं। यह कुछ वैसा ही कवच होता है, जैसा कि बिजली के तारों का रोधक कवच होता है। माइलीन विद्युत संवेगों को त्वरित रूप से एक कोशिका से दूसरी कोशिका में पहुंचने में मदद करता है। एक साइंस पत्रिका के मुताबिक एक अध्ययन के अनुसार ये परिणाम माqस्तष्क की मरम्मत व विकास में नींद की भूमिका के संबंध में वैज्ञानिकों को नई जानकारियां इकट्ठी करने में मदद करेंगे। वैज्ञानिक सालों से यह जानते थे कि जीन सोने के दौरान सक्रिय हो जाते हैं, जबकि हमारे जागने के दौरान ये सुप्त अवस्था में चले जाते हैं।
अध्ययनकर्ताओं के समूह ने पाया कि नींद के दौरान माइलीन निर्माण से जुड़े जीन सक्रिय हो जाते हैं। इसके विपरीत कोशिका मृत्यु व कोशिकीय तनाव प्रक्रिया की ओर इशारा करने वाले जीन जानवरों के जागने के दौरान जागृत हो जाते हैं। अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि ये परिणाम इशारा करते हैं कि नींद व अनिद्रा माqस्तष्क की किस तरह मरम्मत करते हैं या उसे नुकसान पहुंचाते हैं।