तेज सिरदर्द के साथ नींद खुल रही है तो हो सकता है ब्रेन टयूमर


वाशिंगटन। अगर आपकी नींद तेज सिरदर्द के कारण खुल रही है। सुनने की क्षमता घट रही है या आंखों से भेंगा दिखने की शिकायत या रोशनी घट रही है, धीरे-धीरे प्रमुख अंग सुन्न जैसे पड़ रहे हैं तो सतर्वâ हो जाएं यह लकवे के और ब्रेन टयूमर के लक्षण हैं। ऐसी ाqस्थति में तत्काल न्यूरोसर्जन से संपर्वâ करें। शरीर में कोशिकाओं का बनना व नष्ट होना सामान्य प्रक्रिया है पर माqस्तष्क में जब यह प्रक्रिया बाधित हो जाती है तो टयूमर कोशिकाएं बनने लगती हैं। धीरे-धीरे ये गांठ का रूप ले लेती हैं। ये वैंâसरस भी हो सकती हैं। ऐसे में जिस हिस्से में टयूमर होता है उस भाग की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है। यह किसी भी उम्र में हो सकता है। इसे अक्सर लोग नजरअंदाज कर देते हैं। जो भविष्य के लिए गंभीर बीमारी का कारण बनता है। टयूमर के लक्षण धीरे-धीरे सामने आते हैं। बे्रन में टयूमर के आकार, स्थान और प्रकार के आधार पर लक्षण सामने आते हैं। अक्सर सुबह-सुबह तेज सिरदर्द, उल्टी, चलते समय लड़खड़ाना, याद्दाश्त घटना, घबराहट, दौरे पड़ना, मिर्गी आना, सुनने व देखने में दिक्कत आना लक्षण होते हैं।
ब्रेन टयूमर के मूल कारणों की अब तक पुाqष्ट नहीं हुई है। लेकिन कुछ मामलों में रेडिएशन और फोन पर लंबे समय तक बात करने से रेडियो प्रâीक्वेंसी के कारण दिमाग पर असर पड़ता है। कई शोधों में इसकी पुाqष्ट भी हुई है। शोधकर्ता मानते हैं कि रेडिएशन से दूरी व मोबाइल का कम इस्तेमाल इससे बचा सकता है। अगर इसके लक्षण लगातार या बार-बार दिखें तो न्यूरोसर्जन को दिखाएं। इसमें एमआरआई जांच कारगर है। इससे माqस्तष्क व अन्य अंगों की आंतरिक ाqस्थति की सूक्ष्म स्तर पर जांच की जाती है। इसके अलावा सीटी स्वैâन को स्क्रीिंनग टैस्ट की तरह करते हैं।