ज्यादा लंबे समय तक बैठना खतरनाक


वािंशगटन। एक अध्ययन में पता चला है कि दुनिया भर में करीब चार प्रतिशत मौतें तीन घंटे से ज्यादा समय तक बैठने से शरीर पर पडने वाले दुष्परिणामों के कारण होती हैं. अध्ययन में ५४ देशों के सर्वेक्षणों का विश्लेषण किया गया है.अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रीवेंटिव मेडिसिन में प्रकाशित अध्ययन में बताया गया कि सर्वेक्षण के अनुसार हर दिन तीन घंटे से कम समय बैठने से जीवन प्रत्याशा में औसतन ०.२ वर्षों की बढोतरी होती है। बैठने के नुकसानकारी प्रभावों का सही से आकलन करने के लिए अध्ययन में दुनिया भर के ५४ देशों के व्यवहार संबंधी सर्वेक्षणों का विश्लेषण किया गया और उन्हें आबादी के आकार, जीवनांकिक तालिका एवं कुल मौतों के आंकडे के साथ मिलाया गया. ब्राजील के यूनिर्विसटी ऑफ साओ पाउलो स्वूâल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि बैठने के समय से महत्वपूर्ण रूप से हर तरह की मौत के कारण प्रभावित होते हैं। इनका आंकडा ५४ देशों में कुल मौतों की संख्या में करीब ३.८ प्रतिशत है.