ज्यादा फलाहार से अवसाद का खतरा!


मुंबई । अगर आप अपने बच्चों पर ज्यादा फल खाने का दबाव डालते हैं तो ऐसा न करें। जरूरत से ज्यादा फलाहार के भी बुरे परिणाम हो सकते हैं, जो बच्चों में अवसाद के रूप में सामने आ सकते हैं। एक शोध के अनुसार फलों में स्वाभाविक रूप से शर्वâरा होती है, जो प्रâक्टोस की उपलब्धता के लिए जिम्मेदार है। जरूरत से ज्यादा फलाहार किशोर होते बच्चों में अवसाद और बेचैनी को बढ़ा सकता है और साथ ही दिमागी प्रतिक्रिया को भी प्रभावित कर सकता है। शोधकर्ताओं के शोध के नतीजे आपके आहार से माqस्तष्क पर पड़ने वाले प्रभाव और किशोर होते बच्चों में पोषण के महत्व पर प्रकाश डाल सकते हैं।