काम के बोझ से महिलाओं में कैंसर का खतरा


वािंशगटन । काम के बोझ से महिलाओं में वैंâसर का खतरा रहता है। यह बात एक शोध में सामने आई है। जिसमें बताया गया है कि पुरूषों के मुकाबले महिलाओं में यह लक्षण ज्यादा मिले हैं। जानकारी के अनुसार जो महिलाएं तीन दशक से अधिक समय तक सप्ताह में ६० घंटे या उससे अधिक काम करती हैं उन्हें इसका खतरा अधिक होता है। शोधकर्ताओं ने काम के दबाव और तनाव को इसकी मुख्य वजह बताया है। शोधकार्य का नेतृत्व करने वाली प्रो. अलार्ड डेंबे के अनुसार, यह उन महिलाओं के लिए अधिक खतरनाक है जो एक साथ कई भूमिकाएं निभाती हैं। वे एक साथ कई बीमारियों से घिर सकती हैं। उन पुरुषों में भी यह खतरा बहुत कम पाया गया, जो सप्ताह में ४१ से ५१ घंटे अधिक काम करते हैं। ऐसे लोगों में पेâफड़े और दिल की बीमारियों का खतरा उन लोगों की तुलना में कम था जो ४० घंटे तनाव में काम करते हैं। इसके अलावा काम में डूबे पुरुषों में गठिया की समस्या अधिक देखी गई। इन निष्कर्षों के अलावा जांचकर्ताओं ने ३२ साल से अधिक उम्र की महिलाओं की उम्र व उनके काम के घंटों की तुलना की तो पाया कि लगभग हर महिला आठ जटिल बीमारियों में से किसी न किसी से जूझ रही थी। इसमें हृदय रोग, वैंâसर, गठिया, सांस सबंधी रोग, मधुमेह, अस्थमा, अवसाद और रक्तचाप जैसी समस्याएं शामिल थीं। इस अध्ययन मे शोधकर्ताओं ने युवाओं के राष्ट्रीय अनुदैध्र्य सर्वेक्षण १९७९ के अमेरिकी डाटा का प्रयोग किया गया।