शाहरुख खान को नहीं मिलेगी जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट डिग्री


शाहरुख खान को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित करने का फैसला किया था। लेकिन यूनिवर्सिटी को मानव संसाधान मंत्रालय से झटका लगा है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान को जामिया मिलिया इस्लामिया ने डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित करने का फैसला किया था। लेकिन यूनिवर्सिटी को मानव संसाधान मंत्रालय से झटका लगा है। दरअसल, मानव संसाधान मंत्रालय ने यूनिवर्सिटी के अनुरोध को खारिज कर दिया है। इसके पीछे की वजह शाहरुख खान को अन्य किसी दूसरी यूनिवर्सिटी से पहले ही ये सम्मान मिलना बताया गया है। ये खुलासा आरटीआई के द्वारा हुआ है। बात दे कि शाहरुख खान जामिया मिलिया इस्लामिया के स्टूडेंट रह चुके हैं। शाहरुख ने सम्मानित डिग्री को लेने की मंजूरी दे दी थी। लेकिन जब इस बारे में यूनिवर्सिटी ने मानव संसाधान मंत्रालय को लेटर लिखा तो उनकी अर्जी ठुकरा दी गई। इसके बाद आरटीआई का जबाव देते हुए जामिया मिलिया इस्लामिया ने खुलासा किया कि एचआरडी मिनिस्ट्री ने इंकार किया क्योंकि शाहरुख 2016 में मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी से डिग्री मिली है।

इस बारे में मानव संसाधान मंत्रालय के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा, ऐसी डिग्री कई बार देने के संबंध में कोई निश्चित नियम नहीं हैं, लेकिन आमतौर पर इस अवॉइड किया जाता है। बता दें, शाहरुख खान जामिया मिलिया इस्लामिया में मास कम्यूनिकेशन रिसर्च सेंटर के स्टूडेंट रहे हैं। लेकिन कम अटेंडेंस होने की वजह से फाइनल ईयर के एग्जाम में नहीं बैठ पाए थे।

– ईएमएस