राधिका आप्टे को सुरक्षित माहौल की उम्मीद


नई दिल्ली| अभिनेत्री राधिका आप्टे का कहना है कि यहां ऐसी संस्कृति बनाने की जरूरत है कि किसी को यौन उत्पीड़न का सामना ना करना पड़े। राधिका ने आईएएनएस को ईमेल से बताया, “मैं समझती हूं कि यहां ऐसी संस्कृति के निर्माण की जरुरत है, जहां किसी को यौन उत्पीड़न का सामना ना करने पड़े, इसके लिए कामकाजी माहौल बनाना होगा।”

एक कलाकार होने के नाते उन्हें बेतरतीब समय पर काम करना होता तथा खूब सारी यात्राएं भी करनी होती है। राधिका कहती है कि वे खूब सारा पानी पीने की कोशिश करती हैं और नींद पूरी करती हैं।

उन्होंने कहा, “मैं त्वचा के लिए खास कुछ नहीं करती। केवल पानी पीती हूं, और नींद पूरी करने की कोशिश करती हूं। इसके अलावा व्यायाम, पसीना बहाना, त्वचा की नमी बरकरार रखना और सबसे जरूरी स्वच्छता, वास्तव में, मैं केवल इन्ही सब पर ध्यान देती हूं।”

अभिनेत्री ने बाल पकना रोकने के लिए एक बॉटेनिकल हेयर टॉनिक ट्र रूट्स लांच किया। उन्होंने इसके बारे में कहा, “इससे पहले मैं कुछ नहीं करती थी। केवल यही एक उत्पाद है, जिसे अब मैं बैग में हमेशा रखती हू। यह बालों की जड़ पर काम कर उसे पकने से रोकता है. यह स्प्रे के फार्म में है और प्रयोग में आसान है तथा चिपचिपा नहीं है।”

–आईएएनएस