कांग्रेस में ‘नचनिया’ थी भाजपा में आकर “नेत्री” हो जाएंगी सपना चौधरी ?


कांग्रेस में प्रवेश पर भाजपा नेताओं ने उसे नचनिया करार देते हुए सोनिया गांधी से उसकी तुलना तक कर डाली थी।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । जिस हरियाणा की डांसर सपना चौधरी का डंका सारे देश में बज रहा है। उसके कांग्रेस में प्रवेश पर भाजपा नेताओं ने उसे नचनिया करार देते हुए सोनिया गांधी से उसकी तुलना तक कर डाली थी। आज सपना चोधरी के राजनैतिक प्रवेश करते ही भाजपा में भूचाल आ गया है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से सपना चौधरी मिली और उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ले ली। सपना चौधरी को मथुरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतारने का भरोसा प्रियंका गांधी ने दिया था।

इसकी खबर जैसे ही मीडिया में आई। भाजपा में भूचाल आ गया। केन्द्रीय नेतृत्व ने सपना चौधरी को हर हालत में भाजपा में लाने के लिए लगभग आधा दर्जन व्यक्तियों को सक्रिय किया। भाजपा की सबसे बड़ी चिंता सपना चौधरी के कारण उत्तर प्रदेश, हरियाणा तथा राजस्थान का राजनैतिक समीकरण बदलने तथा तीन राज्यों में होने वाले संभावित नुकसान से थी।

दिल्ली के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं भोजपुरी गायक मनोज तिवारी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सहित आधा दर्जन नेताओं को येन-केन-प्रकारेण सपना को भाजपा में वापिस लाने का जिम्मा सौपा गया।

सपना चौधरी को मनाकर उसे भाजपा की सदस्यता गृहण कराई गई। कांग्रेस की सदस्यता नहीं लेने की बात सपना चौधरी से कहलवाई गई। सपना चौधरी को भाजपा के पाले में बनाए रखने के लिए सपना चौधरी के आसपास भाजपा नेताओं ने घेराबंदी कर दी। कांग्रेस अब पछता रही है कि उसने सपना चौधरी के कांग्रेस प्रवेश को सार्वजनिक करके अपने ही पैरों में कुल्हाड़ी मार ली। सपना चौधरी यदि मथुरा से कांग्रेस प्रत्याशी बनती तो उत्तरप्रदेश, राजस्थान तथा हरियाणा की 30 सीटों पर इसका असर पड़ता। सपना के आने से भाजपा को इसका फायदा मिल सकता है। लेकिन सवाल वही है कि जो सपना कांग्रेस में जाने पर भाजपा की नजर में नचनिया थी अब भाजपा में आने पर क्या उनको “नेत्री” माना जा जाएगा।

– ईएमएस