#MeToo मामले में निर्देशक विकास बहल पर आया निर्णय


(Photo Credit : news18.com)

वर्ष 2018 में, #MeToo की शुरुआत तनुश्री दत्ता ने की थी, जिसके बाद कई हस्तियां आगे आईं और साहसपूर्वक उनके साथ यौन उत्पीड़न के बारे में बताया। कई बड़े नाम आरोपों के घेरे में आए। ऐसे में एक नाम विकास बहल का भी था। विकास के खिलाफ यौन उत्पीड़न के मुद्दे के बाद, इसे फ‌िल्म जगत में प्रतिबंधित कर दिया गया था। लेकिन ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्हें इस मामले में क्लीन चिट मिल गई है। आरोप लगने के बाद उन्हे, ऋतिक की फिल्म सुपर 30 से भी हटा दिया गया था। अब फिर से उन्हें फिल्म में निर्देशक का पद मिला है।

रिपोर्ट के मुताबिक, रिलायंस एंटरटेनमेंट ने विकास पर लगे सभी आरोपों की पूरी जांच की थी। तब अंतर्राष्ट्रीय जांच समिति ने घोषणा की कि वह निर्दोष हैं और आरोपों से मुक्त है। अब जब, उन्हें आंतरिक जांच में क्लीन चिट मिल गई है तो प्रोडक्शन हाउस के सीईओ शिबाशीष सरकार ने पुष्टि की है कि सुपर 30 फिल्म के निर्देशक के रूप में विकास को पूरा श्रेय दिया जाएगा। विकास बहल का अगले हफ्ते आने वाली फिल्म के ट्रेलर में भी नाम होगा।

View this post on Instagram

समय बदल रहा है। Welcome to #Super30

A post shared by Hrithik Roshan (@hrithikroshan) on

बता दें कि मामले की जांच बहुत गंभीरता से और गहराई से की गई है और विक्टिम का भी पक्ष लिया गया है। कई अलग-अलग पहलुओं के मद्देनजर, विकास और विक्टिम से पूछताछ की गई है, जिसके बाद यह निर्णय लिया गया है। गौरतलब है कि निर्देशक विकास बहल पर बॉम्बे वेलवेट के 2015 के प्रचार दौरे के दौरान फिल्म क्रू में शामिल एक महिला के साथ छेड़छाड़ का आरोप था।