मनमोहन सिंह की ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाए जा सकते : अनुपम खेर


भारतीय फिल्म जगत के शीर्ष अभिनेता अनुपम खेर ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाए जा सकते हैं।
(Photo: IANS)

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय फिल्म जगत के शीर्ष अभिनेता अनुपम खेर ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाए जा सकते हैं। उन्होंने कहा, मैं पूरी ईमानदारी के साथ इस बात को स्वीकार करता हूं। खेर ने कहा कि मनमोहन सिंह को लेकर अह उनका नजरिया पूरी तरह बदल गया है। ज्ञात हो कि अनुपम खेर ने मनमोहन सिंह पर आधारित अपनी नई फिल्म की शूटिंग हाल ही में पूरी की है। यह फिल्म पूर्व पीएम के मीडिया सलाहकार (2004-08) रहे संजय बारू द्वारा लिखी गई किताब ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर आधारित है। फिल्म का नाम भी यही रखा गया है। खेर ने कहा, यूपीए के शासन के दौरान हुए घोटालों को लेकर मेरे विचार नहीं बदले हैं। 2जी, कोयला घोटाला नहीं होना चाहिए था। भ्रष्टाचार के खिलाफ मूवमेंट रियल था लेकिन मुझे लगता है कि मनमोहन सिंह की ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाए जा सकते हैं।

दिग्गज अभिनेता ने आगे कहा कि पिछले एक साल में फिल्म की शूटिंग के दौरान पूर्व पीएम के बारे में जो भी उपलब्ध था वह पढ़कर और देखकर, वह पूरी तरह से सिंह के चरित्र में उतर गए थे। उन्होंने कहा, ईमानदारी से कहूं तो जब फिल्म का ऑफर मिला तो सिंह के चरित्र को लेकर अलग विचार थे कि वह भ्रष्ट थे या भ्रष्ट लोगों को फलने-फूलने दिया। लेकिन इतने महीनों में मेरा उनके प्रति नजरिया बिल्कुल बदल गया है। इस बीच अनुपम खेर ने एक अंतरराष्ट्रीय टीवी शो को लेकर अपनी प्रतिबद्धता का हवाला देते हुए भारतीय फिल्म और टेलिविजन संस्थान (एफटीआईआई) के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया है। सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ को भेजे अपने इस्तीफे में उन्होंने कहा कि शो को लेकर अपनी प्रतिबद्धता के कारण वह 2018 और 2019 के बीच तकरीबन 9 महीने तक अमेरिका में रहेंगे और फिर तीन साल से ज्यादा समय तक इतना ही समय वहां रहना होगा। उन्होंने अपने इस्तीफा पत्र में कहा है, इस प्रतिबद्धता को देखते हुए मेरे लिए, छात्रों और प्रबंधन टीम के लिए यह ठीक नहीं होगा कि मैं सक्रियता से कामकाज में शामिल हुए बिना इस तरह की जिम्मेदारी और जवाबदेही वाले पद पर बना रहूं।