फिल्म में पूरा जीवन देखना चाहती हैं तेजाब हमले की शिकार लक्ष्मी


Photo : IANS

नई दिल्ली । आज से 13 साल पहले एक 15 वर्षीया किशोरी पर जब एक प्यार के अंधे ने विफलता की खीझ मिटाने के लिए तेजाब फेंका था, तो उस घटना से उजड़ चुकी उस किशोरी को इस बात का बिल्कुल इल्म नहीं था कि उसकी जिंदगी एक समय कुछ इस दिशा में मोड़ लेगी, जहां आज वह है। जी हां, तेजाब हमले की शिकार लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन पर मेघना गुलजार जैसी मशहूर निर्देशक आज फिल्म बनाने जा रही हैं, और बॉलीवुड की एक सबसे खूबसूरत अभिनेत्री दीपिका पादुकोण लक्ष्मी के किरदार में होंगी।

लक्ष्मी की अब यही इच्छा है कि उन पर बन रही फिल्म में उनके पूरे जीवन को विस्तार से दिखाया जाए, ताकि ऐसी घटनाओं पर लगाम लगे और तेजाब हमले की पीड़िताओं के प्रति लोग जागरूक हों।

लक्ष्मी 15 साल की थीं, तभी वर्ष 2005 में एक 32 वर्षीय शख्स ने एक तरफा प्यार में विफल होने पर उनपर तेजाब फेंक दिया था, और यहीं से लक्ष्मी के जीवन की चुनौतियां शुरू हुईं, जो आज भी जारी हैं।

लेकिन आज उनका यही चुनौती भरा जीवन किसी फिल्मकार के लिए एक विषय वस्तु बन गया है। उनके जीवन पर फिल्म बन रही है। लक्ष्मी को आखिर कैसा लग रहा है?

लक्ष्मी ने आईएएनएस के साथ विशेष बातचीत में कहा, “दो साल पहले मैंने इस फिल्म के लिए करार किया था। बहुत खुशी हो रही है कि दीपिका मेरा किरदार निभा रही हैं। इससे समाज को एक संदेश जाएगा, लोग जागरूक होंगे, और तेजाब हमले में जिंदा बचे जो लोग अबतक घर से बाहर नहीं निकले हैं, वे घर से बाहर निकलेंगे।”

लक्ष्मी को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा ने साल 2014 में ‘इंटरनेशनल वुमेन ऑफ करेज’ अवॉर्ड से सम्मानित किया था।

इस फिल्म की योजना के बारे में उन्होंने कहा, “दरअसल, मेघना गुलजार जी ने मुझे खुद ही बोला था कि मैं आप पर फिल्म बनाना चाहती हूं। यह मेरा कोई आइडिया नहीं था, यह उन्हीं का विचार था। यह उन्हीं की योजना है।”

क्या दीपिका से इस फिल्म के संबंध में मुलाकात, बात हुई है? लक्ष्मी कहती हैं, “मैं दीपिका से तीन बार अलग-अलग कार्यक्रमों में मिल चुकी हूं, लेकिन फिल्म के सिलसिले में मेरी उनसे अभी कोई बातचीत नहीं हुई है।”

उल्लेखनीय है कि दीपिका इस फिल्म की निर्माता भी हैं।

फिल्म की पटकथा के बारे में लक्ष्मी कितना जानती हैं? “हां, थोड़ी बहुत सुनी है, पर अभी डिटेल्स में उसे नहीं देखा है। उस पर अभी काम चल रहा है।”

फिल्म की कहानी में कोई नाटकीयता भी है, या जीवन की वास्तविक घटनाओं पर ही यह आधारित है? उन्होंने कहा, “मुझसे जो भी कुछ पूछा गया है, मैंने उसे बताया है। कहानी उसी के इर्द-गिर्द चल रही है। पर मैं चाहती हूं कि मेरी पूरी लाइफ पर फिल्म बने। इस पर मेघना जी से मेरी लगातार बातचीत होती रहती है।”

तो क्या लक्ष्मी भी इस फिल्म के साथ किसी रूप में जुड़ रही हैं? उन्होंने कहा, “नहीं, इसमें मेरी कोई भूमिका नहीं है। इसमें सिर्फ मेरे जीवन की कहानी भर है।”

एक तरफ दीपिका पादुकोण, और दूसरी तरफ तेजाब हमले की एक शिकार का किरदार। अपने किरदार में दीपिका को देखकर लक्ष्मी को कैसा लगता है?

उन्होंने कहा, “बहुत अच्छा लग रहा है कि दीपिका मेरी भूमिका निभाएंगी। बहुत खुशी हो रही है। फिल्म को लेकर उत्साहित हूं कि जल्दी से मेरी फिल्म आए और मैं उसे देखूं, अपनी जिंदगी अपनी आंखों से देखूं।”

हादसे के बाद लक्ष्मी ने कभी सोचा भी था कि उनके जीवन पर फिल्म बनेगी? उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो मैंने कभी नहीं सोचा था। कभी नहीं सोचा था। यह तो बहुत बड़ी चीज है।”

लक्ष्मी ने आगे कहा कि हादसा होता है तो इतनी सारी चीजें घटती हैं कि आप इतना सब कुछ सोच नहीं पाते कि आगे आने वाली जिंदगी कैसी होगी।

-आईएएनएस