वास्तव में ‘मंटो’ का खराब वितरण हुआ था : नवाजुद्दीन सिद्दीकी


मुंबई| अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी का कहना है कि नंदिता दास निर्देशित उनकी फिल्म ‘मंटो‘ का वास्तव में बेहद खराब वितरण हुआ जिसकी वजह से फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई और कमाई के मामले में पिछड़ गई। नवाजुद्दीन ने गुरुवार को मुंबई में ‘जीक्यू मेन ऑफ द ईयर अवार्ड्स-2018’ के दौरान मीडिया से बात की।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह दर्शकों द्वारा फिल्म को मिली प्रतिक्रिया से संतुष्ट हैं तो नवाजुद्दीन ने कहा,

मैं वास्तव में दर्शकों द्वारा ‘मंटो’ को मिली प्रतिक्रिया से संतुष्ट हूं। फिल्म दुनियाभर के कई बड़े फिल्म महोत्सवों का हिस्सा बनी तो मैं इस बात से हमेशा खुश और संतुष्ट रहूंगा।”

उन्होंने कहा, “उन्होंने कहा कि स्क्रीनिंग संबंधी मसले के कारण फिल्म हमारी उम्मीद के मुताबिक अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई। ‘मंटो’ की रिलीज के बाद मुझे एहसास हुआ कि फिल्म चाहे सफल हो या असफल हो, स्क्रीनिंग बहुत कुछ निर्धारित करती है। हमारी फिल्म का वास्तव में खराब वितरण हुआ।”

फिल्म की रिलीज के पहले दिन दिल्ली, नोएडा, मुंबई, पुणे और इलाहाबाद जैसे शहरों में सुबह की स्क्रीनिंग रद्द होने से नंदिता दास बेहद निराश हुई थीं। स्क्रीनिंग रद्द होने का असर फिल्म की कमाई पर भी पड़ा।

अभिनेता की अगली फिल्म ‘ठाकरे’ है, जिसमें वह दिवंगत शिवसेना सुप्रीमो बाल ठाकरे की भूमिका में नजर आएंगे।

–आईएएनएस