गुलशन ग्रोवर के खलनायक बनने का दौर खत्म


बॉलीवुड के बैड मैन के नाम से मशहूर अभिनेता गुलशन ग्रोवर ने टाटा स्काई क्लासिक सिनेमा पर एक चैट शो में कई खु‎लासे ‎किए हैं। उनका कहना है कि खलनायक बनने या बॉलीवुड की फिल्म में खलनायक के रूप में करियर शुरू करने का दौर मेरे साथ खत्म हो गया है। उन्होंने “सदमा और राम लखन” जैसी फिल्मों में खलनायक के किरदार को बड़ा ही रोचक बना दिया था। प्राणजी जैसे कई और अभिनेताओं ने विलेन के रूप में फिल्मों में बहुत बड़ा योगदान दिया है, इसलिए जब मैंने विलेन के रूप में शुरुआत की, तब मैंने महसूस किया कि इसमें कुछ अलग होना चाहिए। मैं दोबारा एक ही जैसे किरदार का चित्रण नहीं करना चाहता था, इस वजह से मैंने अपने किरदारों में बदलाव लाना शुरू कर दिया। हालां‎कि अब यह थोड़ा भिन्न है क्योंकि अब कोई एक खास खलनायक नहीं है। विलेन बनने और इसे अपना करियर बनाने का दौर मेरे साथ ही खत्म हो गया। आज के जमाने में सफल होने के लिए सिर्फ विलेन बनना ही पर्याप्त नहीं है। बता दें ‎कि गुलशन ने कई ‎फिल्मों में ‎विलेन का ‎किरदार ‎निभाया है।