बॉलीवुड के लिये लकी है चीन, बना सबसे बड़ा‌ विदेशी बाजार


पिछले साल चीन में भारत की 10 ‎‎फिल्में ‎रिलीज हुई

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय फिल्मों के लिए विदेशी बाजार लगातार बढ़ता जा रहा है। एक समय था जब भारतीय फिल्मों को रूस में काफी पसंद किया जाता था। फिर अमेरिका और बाकी के यूरोपीय देशों ने भी भारतीय फिल्मों को देखना शुरू किया। अब बॉलीवुड फिल्मों के लिए एक और बड़ा विदेशी बाजार तैयार है और वह है चीन।

भारत में साल 2018 में सभी भाषाओं में लगभग 1776 फिल्में बनी हैं जिन्होंने लगभग 7 लाख करोड़ रुपयों की कमाई की है। इन फिल्मों के ‎निर्यात से बॉलिवुड इस समय अच्छी कमाई कर रहा है लेकिन इस सूची में चीन सबसे ऊपर है। चीन के बढ़ते बाजार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 2016 में चीन में कुल दो बॉलिवुड फिल्में रिलीज हुई थीं। उसके बाद 2017 में केवल एक ही फिल्म रिलीज हुई लेकिन 2018 में चीन में बॉलिवुड की लोकप्रियता इतनी बढ़ी की पिछले साल में चीन में रिलीज होने वाली फिल्मों की संख्या बढ़कर 10 हो गई।

दरअसल चीन में सरकार की विदेशी फिल्मों के लिए पॉलिसी काफी सख्त है और सीमित संख्या में ही विदेशी फिल्में रिलीज की जाती हैं लेकिन अब बॉलिवुड की मसाला फिल्में चीन में हॉलिवुड फिल्मों को कड़ी टक्कर दे रही हैं। इतना ही नहीं साल 2018 में बॉलिवुड की 60 फीसदी कमाई में केवल चीन का कमाल काम कर रहा है। आमिर खान की ‘दंगल’ इस सूची में नंबर वन पर है। इस फिल्म ने भारत में जहां 300 करोड़ का कारेबार किया है वहीं चीन में इसने 1300 करोड़ रुपये की कमाई कर ली। यह चीन में अब तक भारत की सबसे सुपरहिट फिल्म है। इसके अलावा आमिर खान की ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ और ‘पीके’ ने चीन में अच्छा कारोबार किया है।

भारतीय फिल्मों के लिए विदेशी बाजार लगातार बढ़ता जा रहा है। पिछले साल कुल 332 फिल्में विदेशों में रिलीज हुई हैं। अक्षय कुमार की ‘गोल्ड’ पहली हिंदी फिल्म है जो सऊदी अरब में रिलीज हुई थी। साल 2018 में अमेरिका में 44, खाड़ी के देशों में 35, इंग्लैंड में 12, चीन में 10 और ऑस्ट्रेलिया में कुल 9 भारतीय फिल्में रिलीज हुई थीं।