जेब में पैसे हों, तो कोई भी स्टार बन सकता है: केके


‘ब्लैक प्रâाईडे’, ‘सरकार’ और ‘लाइ़फ इन मेट्रो’ सरीखी ़िफल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले केके मेनन का मानना है कि ‘एक्टर’ पैदाइशी होते हैं, जबकि ‘स्टार’ बनाए जाते हैं। गैर ़िफल्मी परिवार से आने वाले केके मेनन ने अपनी पहचान बतौर अभिनेता बना ली है, लेकिन वो ़खुद को स्टार नहीं मानते। ‘स्टार’ और ‘एक्टर’ के बीच के ़फ़र्वâ पर वो कहते हैं, ”जेब में पैसा हो तो कोई भी स्टार बन सकता है, स्टार बनना कोई रॉकेट साइंस नहीं है। अभिनेता, गायक, र्आिटस्ट और पेंटर होना सब ़िकस्मत में लिखा होता है।” ़खुद को खुश़िकस्मत बताते हुए वो कहते हैं, ”मैं उन चुिंनदा खुश़िकस्मत लोगों में से हूं, जिन्हें अभिनेता बनने का सौभाग्य मिला।” अपनी ़िफल्म के सौ करोड़ के क्लब में शामिल होने के सवाल पर केके कहते हैं, ”सौ करोड़ी ़िफल्म बनाने के लिए अच्छा अभिनय और कहानी ़जरूरी नहीं है, बाqल्क ़िफल्म की पैकेिंजग, मार्वेâिंटग पर ़खर्च करने के लिए पैसे ़जरूरी हैं।” वो कहते हैं कि अब ८० करोड़ की लागत से बनी ़िफल्म १०० करोड़ कमाए, तो मुना़पेâ की दर कम हो जाती है और मैं ऐसी ़िफल्मों से नहीं जुड़ा हूं। वहीं नामी स्टार्स के साथ ़िफल्म बनाने वाले निर्माताओं के बारे में वो कहते हैं, ”तीन दिन के धंधे के लिए बनाई गई ़िफल्म को सिनेमा नहीं कहा जा सकता। ऐसे धंधे के लिए तो ठेला भी धकेला जा सकता है।” केके कहते हैं, ”सबको ध्यान रखना चाहिए कि किसी ़िफल्म की उम्र उसे बनाने वाले की उम्र से अधिक हो।”
अपने अभिनय की तुलना क्रिकेट से करते हुए उन्होंने कहा, ”मैं टी-२० भी खेलता हूं और टेस्ट मैच भी खेलता हूं। लेकिन मैं टेस्ट मैच वाले शॉट्स टी-२० में नहीं खेलूंगा।” इन दिनों कई बॉलीवुड कलाकार हॉलीवुड का रु़ख कर रहे हैं। इस पर वो कहते हैं, ”मैं हॉलीवुड में तभी काम करूंगा, जब मुझे किसी दायरे में न बांधा जाए। अब वो कभी मुझे पाकिस्तानी, तो कभी बांग्लादेशी बना देंगे।” केके ने अंग्रे़जी पर टिप्पणी करते हुए कहा, ”रही बात हमारी अंग्रे़जी की, तो मैं हॉलीवुड अदाकारा सलमा हएक से शुद्ध अंग्रे़जी बोल लेता हूं।” वैसे वो हॉलीवुड को का़फी प्रौqक्टकल और क्वालिटी पर ध्यान देने वाला ़िफल्म उद्योग मानते हैं। सेंसर विवाद पर केके मेनन ने कहा, ”मैं सेंसर को नहीं मानता। सेंसर बोर्ड का काम र्सिट़िफकेट देना है, उनको अपना यही काम करना चाहिए।” ़िफल्म ‘सन ७५(पचहत्तर)’ एक जुलाई को रिली़ज होने वाली है। इसमें मुख्य भूमिका में र्कीित कुल्हारी, टॉम ऑल्टर और प्रवेश राणा हैं।