ओमपुरी थियेटर में चाहते है वापसी


मुुंबई । फिल्मजगत के नामचीन अभिनेता ओमपुरी ४० साल के बाद अपने पूर्व संस्थान नेशनल स्वूâल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) में आने पर गर्मजोशी के साथ किये गये स्वागत से अभिभूत थे। ओमपुरी ने कहा कि वह थियेटर की ओर लौटना चाहते हैं। एनएसडी के १७ वें भारत रंग महोत्सव के उद्घाटन के मौके पर कल तालियों की गड़गड़ाहट से पुरी (६४) का जोरदार स्वागत किया गया। रंगमंच के अपने पुराने दिनों को याद करते हुये राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेता ने कहा कि उन्हें लगता है कि रंगमंच की दुनिया अतुलनीय है और वह एक बार फिर से इसे जीना चाहते हैं।
पुरी ने कहा कि आज मैं जो हूं उसे बनाने के लिए मैं इस थियेटर स्वूâल का शुक्रगुजार हूं। मुझे लगता है कि मुझे मंच पर लौट आना चाहिए। ये तालियां जोश भरने वाली हैं। इस तरह का स्वागत नशे की लत की तरह है। उन्होंने कहा कि थियेटर ने हमेशा मुझमे उत्साह भरा है। अब मैं फिल्म और थियेटर दोनों करना चाहता हूं। क्योंकि फिल्मों के कारण, मैं बहुत ज्यादा थियेटर नहीं कर पाता हूं लेकिन अब मैं रंगमंच पर सक्रिय होउंगा और अधिक नाटक करूंगा।
ओमपुरी पिछली बार रंगमंच पर दो साल पहले पंजाबी नाटक `तेरी अमृता’ में नजर आए थे। इस नाटक में उनके साथ शबाना आजमी और दिवंगत अभिनेता फारूख शेख ने भी अभिनय किया था। उन्होंने कहा कि थियेटर संस्कृत की तरह है, एक मदर प्लांट की तरह है। रेडियो, सिनेमा इसके बच्चे हैं। इसने मेरे करियर में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है।