सोनिया के पति ने पहले की थी फिरौती मांगने की शिकायत


पेटीएम का डेटा चुराने के आरोप में जेल भेजे गए आरोपियों पर पुलिस ने भले ही तुरंत कार्रवाई की हो, लेकिन फिरौती मांगने की वारदात पहले भी हो चुकी है।

नई दिल्ली (ईएमएस)। पेटीएम का डेटा चुराने के आरोप में जेल भेजे गए रूपक जैन, सोनिया धवन और देवेंद्र पर पुलिस ने भले ही तुरंत कार्रवाई की हो, लेकिन इस घटना से करीब एक महीना पहले 22 सितंबर को रूपक ने भी नए नंबर से कॉल और 5 करोड़ रुपए रंगदारी मांगे जाने की शिकायत पुलिस से की थी। इसके बावजूद आज तक पुलिस धमकी देने वाले की गिरफ्तारी तो दूर उसका नाम- पता तक नहीं जान पाई है।

सोनिया धवन का पति रूपक जैन रियल एस्टेट में काम करता है। उसने 22 सितंबर को थाना सेक्टर 39 में शिकायत दी थी कि एक नए नंबर से कॉल करके उससे 5 करोड़ रुपये फिरौती मांगी गई है। पैसे न देने पर बीवी-बच्चे को मार देने की धमकी दी गई है।

इस मामले में एनसीआर दर्ज कर जांच पहले सेक्टर 82 चौकी प्रभारी कमल त्रिवेदी को दी गई, लेकिन दरोगा ने न तो नंबर की जांच की और न ही पीड़ितों से मिलने की कोशिश की। पिछले सप्ताह जब पेटीएम कंपनी की ओर से थाना सेक्टर 20 में मामले की शिकायत दी गई तो रूपक जैन की शिकायत ओखला चौकी इंचार्ज गिरीश चंद के सुपुर्द कर दी गई। वहीं सोनिया की बहन रूपाली, उसके पति, भाभी और वकील कंचन बुधवार को लुक्सर जेल में सोनिया व रूपक से मिले। दोनों से मिलने को उन्हें 10- 10 मिनट का समय दिया गया था। सोनिया ने अपनी वकील से बताया कि उन्हें बेवजह फंसाया गया है। विजय शेखर शर्मा इस वक्त हॉन्गकांग में हैं। जब तक वह इस मामले में सामने नहीं आते, लोगों को सच्चाई पता नहीं चलेगा।