कोरोना संकट का लाभ उठाने की फिराक में थे विक्रेता, एमेजोन ने लिया एक्शन


(PC : mediapost.com)

दुनिया भर में इन दिनों कोरोना संक्रमण को लेकर दहशत का माहौल है। चीन से शुरु हुई कोरोना वायरस रूपी महामारी युरोप सहित 60 से अधिक देशों में पहुंच चुकी है। चिकित्सा जगत जहां इस महामारी का ईलाज ढूंढने में व्यस्त है, वहीं कुछ तत्व ऐेसे भी हैं जो इस संकट कालीन समय में भी इसे भुनाने की पैरवी में हैं।

इंटरनेट और इ-कोमर्स के वर्तमान युग में लोग एमेजोन पर विभिन्न उत्पाद बेचकर कारोबार करने लगे हैं। इसी क्रम में कोरोना संक्रमण के वर्तमान दौर में हजारों विक्रेता ऐसे निकले जिन्होंने एमेजोन पर कोरोना संक्रमण को रोकने-ठीक करने के दावे के साथ कम गुणवत्ता वाले उत्पाद बेचना शुरु कर दिया था। लाखों की तादाद में विभिन्न उत्पाद एमेजोन पर बिकने शुरु हो गये थे।

एमेजोन पर बिकने वाले कुछेक उत्पादों में कोरोना बीमारी को ठीक करने या उसके प्रभाव को कम करने के दावे किये जा रहे थे। फेस मास्क जैसे कई उत्पाद ऐसे भी थे जिन्हें कई गुना दाम बढ़ाकर बेच परिस्थिति का लाभ लेने का प्रयास किया जा रहा था। कई विक्रेता कई गुना अधिक शिपिंग चार्ज वसूल कर रहे थे।

इस बाबत मी‌डिया में खबरें आने पर एमेजोन सक्रिय हो गया और उसने करीबन 10 लाख ऐसे उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है। वहीं एमेजोन के नियमों का उल्लंघन करने वाले विक्रेताओं के खिलाफ एक्शन भी लिया जा रहा है।

एमेजोन के एक अधिकारी ने प्रेस को जारी बयान में कहा है कि एमेजोन के नियमों के अनुसार विक्रेता को अपने सूचीबद्ध उत्पाद की पूरी जानकारी देनी होती है। ऐसे किसी भी उत्पाद या पेज को हटा दिया जा रहा है, जिसमें गलत जानकारियां शेयर की गई हैं।