पंजाब, हरियाणा में बारिश से फसलें चौपट


चंडीगढ़| पंजाब, हरियाणा के अधिकांश इलाकों में तीसरे दिन भी सामान्य से भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित है। किसानों ने बताया कि खेतों में खड़ी धान व कपास की फसल काटने के लिए तैयार थी लेकिन बेमौसम बारिश से फसल बर्बाद हो गई।

पड़ोसी राज्यों हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश होने के कारण पंजाब में सतलुज, ब्यास और रावी हरियाणा में यमुना नदियों के लिए सोमवार को चेतावनी जारी की गई है।

अमृतसर में रविवार को 145 मिलीमीटर बारिश हुई। शहर में अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 11 डिग्री नीचे है।

स्वर्ण मंदिर परिसर में पवित्र जल का स्तर भी बढ़ गया है जिससे वहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए समस्याएं पैदा हो गई। दोनों राज्यों के विभिन्न हिस्सों में यातायात प्रभावित है।

चंडीगढ़ में कई जगह जलभराव होने से यातायात बाधित हुआ। हरियाणा के पंचकुला और पंजाब के मोहाली के से सटे इलाकों में प्रशासन को जलभराव की शिकायतें मिल रही हैं।

पंजाब के नवांशहर जिले में रविवार को एक छत ढहने से दो लोगों की मौत हो गई।

लगातार बारिश के कारण दोनों राज्यों में अधिकतम तापमान में गिरावट आई है। अधिकतम तापमान सामान्य से छह से 11 डिग्री नीचे चला गया।

–आईएएनएस