अच्छी खबर: 1 जुलाई से फिर उड़ान भर सकती है जेट एयरवेज


जेट एयरवेज में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए आदिग्रुप ने अस्थाई रूप से बंद एयरलाइंस का परिचालन 1 जुलाई से फिर शुरू करने की पेशकश की है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । आर्थिक संकट से जूझ रही जेट एयरवेज में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए अनचाही बोली लगाने वाले आदिग्रुप ने अस्थाई रूप से बंद एयरलाइंस का परिचालन 1 जुलाई से फिर शुरू करने की पेशकश की है। आदिग्रुप ने कहा है कि 8000 से 9000 कर्मचारियों और 70 एयरक्राफ्ट के साथ 1 जुलाई से जेट एयरवेज का परिचालन भी शुरू किया जा सकता है।

एक रिपोर्ट में आदिग्रो एविएशन की पैरेंट कंपनी आदिग्रुप के संस्थापक और अध्यक्ष संजय विश्वनाथन ने कहा कि वह जेट एयरवेज को पटरी पर लाने के लिए एतिहाद के साथ साझेदारी करने के इच्छुक हैं। जेट एयरवेज के रिवाइवल के लिए आदि ग्रुप ने जो योजना बनाई है, उसमें बैलेंस शीट में सुधार और एयरलाइंस को एक लाइफस्टाइल कंपनी के रूप में न चलाने का प्रस्ताव शामिल है। समूह ने कुल 6 सूत्रीय पुनरोद्धार योनजा प्रस्तुत की है।

योजना के तहत समूह चाहता है कि कर्मचारियों के वेतन में कटौती की जाए। इसके बदले उन्हें कंपनी में शेयर हिस्सेदारी की पेशकश की जाएगी। उन्होंने कहा, शीर्ष नेतृत्व के वेतन में कम से कम 25 प्रतिशत कटौती करने की जरूरत है और बाकी को 10 प्रतिशत वेतन छोड़ना होगा। उन्होंने कहा, हमने एक प्रासंगिक और व्यवहारिक कटौती की बात की है लेकिन अधिक महत्वपूर्ण है कि हम इक्विटी दे रहे हैं। हमारी बाध्यकारी बोली में कर्जदाता समूहों के लिए भी इक्विटी हिस्सेदारी है। इसका मतलब है कि वे न सिर्फ अपना पैसा वसूलने वाले हैं, बल्कि एक बार एयरलाइंस पटरी पर आ गई तो उन्हें उल्लेखनीय मुनाफा भी मिलेगा।’

– ईएमएस