कोरोना कहर- चीन में बने टीवी और मोबाइल की सप्लाई घटी और दाम बढ़े


कोलकाता (ईएमएस)। चीन में महामारी बने घातक कोरोना वायरस से उद्योग-धंधे भी प्रभावित होने लगे हैं इसका असर बढ़ने के साथ भारत में आईफोन और दूसरे हैंडसेट ब्रैंड्स की सप्लाई घट गई है। कई सेलफोन और इलेक्ट्रॉनिक रिटेलरों ने बताया कि शाओमी, टीसीएल और रियलमी के फोन की सप्लाई पर भी असर पड़ा है। पिछले सात से 10 दिनों में आम दिनों के मुकाबले 10-20 फीसदी माल ही स्टोर्स में भेजा गया है। सबसे बड़ा असर ऐपल पर पड़ा है। कई स्टोर्स का कहना है कि आईफोन 11 सीरीज की सप्लाई बंद सी हो गई है और यही हाल ऐपल वॉच के कुछ मॉडलों का है।

इंडस्ट्री के तीन सीनियर एग्जिक्यूटिव्स ने कहा कि देश में ही बनाए जा रहे आईफोन एक्सआर और आईफोन 7 पर असर नहीं पड़ा है। टीसीएल और शाओमी के टेलिविजन की सप्लाई भी घटी है। शाओमी एयर-कंडिशनर सेगमेंट में अपनी एंट्री कुछ हफ्तों के लिए टाल रही है। एग्जिक्यूटिव्स ने बताया कि देश में चौथे बड़े स्मार्टफोन ब्रैंड रियलमी को सी3 और 5आई जैसे नए स्मार्टफोन मॉडलों की कमी का सामना करना पड़ रहा है।
रिटेलरों ने कहा कि प्रोडक्ट्स पर डिस्काउंट घटा है। उन्होंने कहा कि आईफोन, मैकबुक कंप्यूटर और ऐपल वॉच जैसे कुछ प्रोडक्ट्स अब

ऑफलाइन स्टोर्स में स्टिकर प्राइस पर बेचे जा रहे हैं। चीन में कुछ कारखानों में कामकाज शुरू हुआ है, लेकिन वे अपनी क्षमता के 30-35 प्रतिशत स्तर पर ही काम कर रहे हैं। इसके चलते कुछ कॉम्पोनेंट्स के दाम उछल गए हैं। लिहाजा कंपनियों को टीवी, कुछ स्मार्टफोन और एसी के दाम इस महीने से 5-10 प्रतिशत बढ़ाने पड़े हैं। मुंबई और नई दिल्ली में प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक्स रिटेलर विजय सेल्स के डायरेक्टर नीलेश गुप्ता ने कहा, ‘कई ब्रैंड्स के साथ सप्लाई वाली दिक्कत है। हालात सामान्य होने का कोई संकेत नहीं दिख रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘हालात जल्द न सुधरे तो अगले महीने स्टॉक-आउट वाली स्थिति बन सकती है।’

मुंबई की प्रमुख चेन कोहिनूर इलेक्ट्रॉनिक्स के डायरेक्टर विशाल मेवानी ने कहा कि रियलमी, टीसीएल और शाओमी जैसे ब्रैंड्स पर ज्यादा असर पड़ा है। उन्होंने कहा, ‘जितनी जरूरत है, उसका 10-20 प्रतिशत माल ही हमें मिल पा रहा है।’ शाओमी इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा कि चीन में शटडाउन बढ़ने के कारण मार्च की शुरुआत के लिए टीवी की सप्लाई चेन पर कुछ असर पड़ा है। उन्होंने कहा, ‘हम भारत में डिमांड बैलेंस करने पर काम कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि एसी सेगमेंट में एंट्री के बारे में शाओमी कॉमेंट नहीं करेगी। ऐपल इंडिया ने सवालों के जवाब नहीं दिए।

टीसीएल इंडिया ने कॉमेंट करने से इनकार कर दिया। रियलमी इंडिया ने कहा कि कुछ इंपोर्टेड कॉम्पोनेंट्स की तंगी है। उसने कहा कि सभी बड़े सप्लायरों ने काम दोबारा शुरू कर दिया है और स्थिति जल्द सुधरेगी। रियलमी ने कहा कि कारखानों में मजदूर कई शिफ्ट्स में काम कर रहे हैं और उसे योजना के मुताबिक जल्द नए प्रोडक्ट्स लॉन्च करने का भरोसा है।