कोरोना कहर- मास्क की कीमतों में 4 गुना तक इजाफा


(PC : tempo.co)

नई दिल्ली (ईएमएस)। चीन में फैले संक्रमित कोरोना वायरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है। अब तक अपने देश में इसके 18 मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना का खौफ इतना है कि पैरंट्स बच्चों को स्कूल भेजना बंद कर दिया है। फेस मास्क की डिमांड इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि मेडिकल दुकानों के स्टॉक खाली पड़ गए हैं। डिमांड बढ़ने के कारण इसके प्राइस में भी काफी तेजी आई है। फ्लिपकार्ट पर इसकी कीमत 49 रुपये है और डिलिवरी में 4-5 दिन का वक्त लगेगा। ऐमजॉन पर यह उपलब्ध नहीं है। सर्जरी में इस्तेमाल किए जाने वाले मास्क की कीमत में 300 फीसदी से भी ज्यादा की तेजी आ गई है। जिस मास्क की कीमत 10 रुपये होती है, वह 40-50 रुपये में भी नहीं मिल रहा है। मास्क के अलावा सैनिटाइजर की कीमत में भी उछाल आया है।

जिन अस्पतालों में पहले से ज्यादा स्टॉक नहीं थे, वहां मेडिकल स्टॉफ को भी यह उपलब्ध नहीं हो रहा है। मास्क की बहुत बड़े पैमाने पर सप्लाई चीन से होती थी, लेकिन फिलहाल वहां से सप्लाई बंद है। लोकल मास्क प्रोड्यूसर जरूरत के हिसाब से मास्क बनाने में पिछड़ रहे हैं। मेडिकल एक्सपर्ट सलाह दे रहे हैं कि अगर आप हेल्दी हैं और कोई जरूरतमंद है, मसलन जिसे सर्दी जुकाम हो गया हो या मेडिकल स्टॉफ, जिसे इसकी ज्यादा जरूरत है तो बेहतर होगा कि आप जरूरतमंदों को पहले खरीदने दें, क्योंकि उन्हें इसकी जरूरत ज्यादा है। इसके अलावा साफ-सफाई बरतने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि इंफेक्शन से समस्या नहीं बढ़े। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इंग्लैंड में कई विज्ञापनों को प्रतिबंधित कर दिया गया है, जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि उनके ब्रैंड का मास्क कोरोना वायरस को फैलने से रोकता है। मेडिकल विशेषज्ञ हर किसी से अपील कर रहे हैं कि लगातार हाथ धोते रहें और खुद को इंफेक्शन से बचाएं।