अंबानी की गैस पाइपलाइन कंपनी को 14 हजार करोड़ में खरीदेगी ब्रुकफील्ड


मुंबई । कनाडा की वित्तीय कंपनी ब्रुकफील्ड 14 हजार करोड़ रुपए में ईस्ट वेस्ट पाइपलाइन (ईडब्ल्यूपीएल) के स्वामित्व वाली गैस पाइपलाइन को खरीदने की योजना बना रही है। कनाडा की फर्म की तरफ से भारतीय तेल व गैस इन्फ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में यह पहला अधिग्रहण होगा।

जानकारी के अनुसार भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने पिछले हफ्ते इस लेनदेन को मंजूरी दी है। ब्रुकफील्ड ने आधारभूत संरचना निवेश ट्रस्ट (इनविट) को पंजीकृत करने के लिए भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के साथ एक आवेदन भी दायर किया है जिसे इसी महीने मंजूरी मिल सकती है। 1,400 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रवर्तक मुकेश अंबानी की होल्डिंग कंपनी के पास है, जो आंध्र तट पर काकीनाड़ा को गुजरात के भरुच को जोड़ती है। कृष्णा गोदावरी डी-6 बेसिन पर रिलायंस इंडस्ट्रीज, बीपी और निको रिसोर्सेस की संयुक्त उद्यम परियोजना के लिए यह पाइपलाइन महत्वपूर्ण होगी, जो साल 2020 में उत्पादन बढ़ा सकती है। ईडब्ल्यूपीएल अन्य गैस स्रोतों मसलन आरएलएनजी (रीगैसीफाइड लिक्विफाइड नैचुरल गैस) टर्मिनल समेत अन्य के गैस परिवहन की जरूरतें भी पूरी करती है। यह पाइपलाइन अन्य ऑपरेटरों जैसे गेल और गुजरात स्टेट पेट्रोनेट के साथ जुड़ी हुई है जो देश के अन्य इलाकों में गैस की डिलिवरी के लिए है।

(ईएमएस)