4 साल में 120 अरब डालर का हो जाएगा ई-कामर्स क्षेत्र : रिपोर्ट


मुंबई,।बड़ी संख्या में युवा आबादी, इंटरनेट की पहुंच में वद्धि तथा अपेक्षाकत बेहतर र्आिथक प्रदर्शन से देश के ई-कामर्स क्षेत्र की आय २०१६ में ३० अरब डालर से बढ़कर २०२० तक १२० अरब डालर हो जाने का अनुमान है। यह सालाना ५१ प्रतिशत वद्धि को बताता है जो दुनिया में सर्वाधिक है। एसोचैम-फोरेस्टेर के अध्ययन में यह कहा गया है। अध्ययन के अनुसार भले ही भारत इस मामले में चीन तथा जापान जैसे अन्य देशों से पीछे हो लेकिन वद्धि दर अन्य देशों की तुलना में कहीं अधिक है।
भारत की सालाना वद्धि ५१ प्रतिशत के मुकाबले चीन का ई-वाणिज्य कारोबार १८ प्रतिशत की दर से, जापान का ११ प्रतिशत की दर से तथा दक्षिण कोरिया का १० प्रतिशत की दर से वद्धि कर रहा है। इसमें कहा गया है कि ब्रिकस देशों में भारत में इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या २०१६ में ४० करोड़ है जो ब्राजील में २१ करोड़ तथा रूस में १३ करोड़ है।
दिलचस्प है कि देश का करीब ७५ प्रतिशत आनलाइन ग्राहक १५ से ३४ साल के उम्र के हैं। देश में कुल ई-वाणिज्य में ६० से ६५ प्रतिशत बिक्री मोबाइल उपकरण या टैबलेट के जरिये हो रही है। अध्ययन में कहा गया है कि स्मार्टफोन के जरिये खरीदारी पासा पलटने वाला साबित हो रहा है।