3 मई से देशभर में शुरू होगी एमएनपी सुविधा


नई दिल्ली। भारतीय दूरंसचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) द्वारा एमएनपी पर नियमन में किये गये संशोधन के बाद मोबाइल उपभोक्ता ३ मई से देशभर में कहीं भी मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) सुविधा का लाभ ले सवेंâगे। इसके तहत उपभोक्ताओं को अपना ऑपरेटर बदलने की सुविधा मिलती है, जबकि उनका मोबाइल नंबर कायम रहता है। फिलहाल उपभोक्ताओं को सिर्पâ उनके दूरसंचार र्सिकल में ही एमएनपी की अनुमति है। ज्यादातर मामलों में यह राज्य तक सीमित रहता है। उदाहरण के लिए कोई व्यक्ति दिल्ली से चेन्नई स्थानांतरित होता है, तो वह ऑपरेटर का चयन कर सकता है, जबकि उसका पुराना नंबर कायम रहेगा।
बुधवार को ट्राई द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि, दूरसंचार मोबाइल नंबर पोर्टेेबिलिटी नियमन, २००९ में छठा संशोधन जारी किया है। इससे ३ मई, २०१५ से देशभर में पूर्ण मोबाइल नंबर पोर्टेेबिलिटी की सुविधा मिलेगी। दूरसंचार विभाग ने ३ नवंबर को एमएनपी लाइसेंस करार में संशोधन जारी किया था। उसने कहा था कि देशभर में एमएनपी का कार्यान्वयन लाइसेंस में संशोधन की तारीख के छह माह के भीतर होगा।