15 करोड़ बैंक खातों को आधार से जोड़ाः एनपीसीआई


मुंबई। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने १५ करोड़ बैंक खातों को सफलतापूर्वक आधार संख्या से जोड़ने का नया मुकाम हासिल करने का दावा किया है। इसके साथ ही यह प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) प्राप्त करने वाले सभी १७ करोड़ लार्भािथयों के खातों को आधार से जोड़ने के लक्ष्य के करीब पहुंच गई है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रर्वितत एनपीसीआई ने कहा कि उसे उम्मीद है कि जल्द ही सरकारी सहायता लाभ अंतरण पाने वाले सभी लार्भािथयों को वह इस अंतरण कार्यक्रम के तहत ले आएगी।
एनपीसीआई के एक बयान के मुताबिक उसका ध्यान इस समय १७ करोड़ डीबीटी (प्रत्यक्ष लाभ अंतरण) लार्भािथयों के खातों को ३० जून से पहले आधार से जोड़ने पर है। इस एजेंसी के प्रमुख एपी होता ने कहा कि यह इलेक्ट्रॉनिक लाभ अंतरण कार्यक्रम न केवल विशिष्ट होगा बाqल्क दुनिया में विशालतम कार्यक्रमों में एक होगा। सरकार ने प्रत्यक्ष लाभ अंतरण यानी डीबीटी योजना और वित्तीय समावेश कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए पिछले साल जनधन योजना की शुरूआत की थी जिसके तहत २६ जनवरी तक १२.५ करोड़ लोगों के बैंक खाते खोले गए।