हलवा सेरेमनी के साथ शुरु हुई बजट प्रक्रिया


वित्तमंत्री ने खिलाया हवला
नई दिल्‍ली (ईएमएस)।मोदी सरकार के अंतिम बजट 2018-19 के दस्‍तावेजों की प्रिंटिंग की प्रक्रिया शनिवार को हलवा सेरेमनी की रस्‍म के साथ शुरू हो गई।वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को हलवा सेरेमनी में वित्त मंत्रालय के अधिकारियों को हलवा खिलाकर बजट की प्रक्रिया की शुरुआत की। इसी के साथ प्रिंटिंग प्रेस के तमाम कर्मचारियों सहित वित्त मंत्रालय के 100 अधिकारियों को बजट पेश होने तक नजरबंद कर दिया जाएगा। केंद्र सरकार 1 फरवरी को आम बजट पेश करेगी।
क्या है हलवा सेरेमनी
बजट पेश होने से पहले एक अहम हलवा सेरेमनी होती है जिसके बाद आधिकारिक तौर पर बजट छपाई के लिए भेजा जाता है। कहा जाता है कि हर शुभ काम की शुरुआत मीठे से करनी चाहिए और भारतीय परंपरा में हलवे को काफी शुभ माना जाता है। हलवा सेरेमनी के तहत मौजूदा वित्तमंत्री खुद बजट से जुड़े कर्मचारियों,बजट की छपाई से जुड़े कर्मचारियों और वित्त अधिकारियों को हलवा बांटते हैं। इस हलवे के बनने और बंटने के बाद ही बजट के दस्तावेजों के छापने की प्रक्रिया शुरू होती है।
अधिकारियों को रखा जाता है परिवार से भी दूर
लोकसभा में जब वित्तमंत्री द्वारा बजट पेश किए जाने तक ये कर्मचारी अपने परिवार से फोन पर भी संपर्क नहीं कर सकते। इस रस्‍म के बाद वित्‍त मंत्रालय के सिर्फ अति वरिष्‍ठ अधिकारी को ही अपने घर जाने की अनुमति मिलती है। वित्त मंत्री की तरफ से हलवा बांटे जाने के बाद मंत्रालय के ज्‍यादातर अधिकारी और कर्मचारियों को मंत्रालय में ही पूरी दुनिया से कट कर रहना होता है। बजट बनाने की प्रक्रिया में लगे 100 अधिकारी 2-3 सप्ताह तक नॉर्थ ब्लॉक में रहते हैं।