स्पेक्ट्रम नीलामी 1.07 लाख करोड़ तक पहुंची


नई दिल्ली। दूरसंचार स्पेक्ट्रम नीलामी के १६वें दिन की समााqप्त पर बोली १.०७ लाख करोड रुपए तक पहुंच गई और इसके साथ ही ८८ प्रतिशत स्पेक्ट्रम का अस्थायी तौर पर आवंटन हो गया। नीलामी के लिए बोली राशि कल १.०५ लाख करोड रुपए तक रही जबकि इससे एक दिन पहले यह १.०९ लाख करोड रुपए तक पहुंच गई थी। दूरसंचार विभाग ने कहा कि ९७वें दौर के अंत तक ८८ प्रतिशत स्पेक्ट्रम को अस्थायी तौर पर बोली लगाने वालों को आवंटित कर दिया गया. बोलीदाताओं ने जो अंतिम राशि की प्रतिबद्धता जताई है वह १,०७,००० करोड रुपए से अधिक है।
सूत्रों के अनुसार राजस्थान, पूर्वी और पाqश्चमी उत्तर प्रदेश र्सिकल के लिए ९०० मेगाहटर््ज में लगातार आक्रमक बोली लगाई जा रही है जबकि मध्य प्रदेश और पूर्वोत्तर क्षेत्र में ८०० मेगाहटर््ज बैंड में बोली का जोर है। १८०० मेगाहर्टज के एक र्सिकल में कुछ गतिविधियां दिखीं लेकिन ३जी सेवाओं में काम आने वाले २१०० मेगाहटर््ज में कोई बोली नहीं लगी। सूत्रों ने बताया कि १८०० मेगाहटर््ज, ९०० मेगाहटर््ज और ८०० मेगाहर्ट्ज बैंड में जोरशोर से बोली लगाई जा रही है। सरकार को इससे पहले वर्ष २०१० में ३जी और बीडब्लयूए स्पेक्ट्रम की बिक्री से १.०६ लाख करोड रुपए मिले थे। स्पेक्ट्रम नीलामी की बोली सोमवार को भी जारी रहेगी।