शेयर बाजार में तेजी : 11 कपनियां 2 लाख करोड़ की पूंजी के पार


नई दिल्ली। भारतीय शेयर बाजार ने दुनिया भर की सार्वधिक तेजी का रिकार्ड बना लिया है। भारतीय शेयर बाजार पहली बार २९ हजार अंकों को पार कर गया है। इस बढ़त के कारण ११ वंâपनियों की पूंजी २ लाख करोड़ से ज्यादा हो गई है। यह भी अभी तक का सर्वाधिक इतिहास है। उल्लेखनीय है कि २००८ में भारतीय शेयर बाजार की ऐतिहासिक तेजी से वंâपनियों की ही पूंजीकरण बढ़ा था। २०१५ की तेजी में अब ११ वंâपनियां २ लाख करोड़ से ऊपर पहुंच गई है। पिछले आठ महीने में २ लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण में शामिल होने वाली वंâपनियो की संख्या अब ११ पर पहुंच गई है। आठ माह में वित्तीय क्षेत्र की चार वंâपनियों एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी के साथ इन्फोसिस और हिंदुस्तान यूनिलीवर इस क्लब में शामिल हो गई है। टाटा वंâसलटेंसी सर्विसेज, ओएनजीसी, आईटीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज और कोल इंडिया का बाजार पूंजीकरण १६ मई २०१४ को २ लाख करोड़ रुपये से ज्यादा था।
बैंच मार्वâ सूचवंâाक में २१ फीसदी की मजबूती आई है। गुरुवार को बंबई स्टाक एक्सचेंज का सेंसेक्स पहली बार २९,००० के स्तर को पार कर गया। सेंसेक्स में इस तेजी के पीछे विदेशी निवेशकों का योगदान था। पिछले ६ कारोबारी सत्रों मे सेंसेक्स में करीब ६ फीसदी की तेजी आई है।