रामदेव के पतंजलि को चुनौती देने आया पंजाब दा किन्नो जूस


मुंबई । योग गुरू बाबा रामदेव की पतंजलि के उत्पादों की बढ़ती लोकप्रियता और उनकी चुनौती ने देश की कई जानी मानी वंâपनियों को अपने उत्पादों तक में बदलाव करने को मजबूर कर दिया है। एफएमसीजी वंâपनी आईटीसी ने बाजार में पहली बार बाजार के मुताबिक स्थानीय उत्पाद में उतारने शुरू कर दिए हैं। इसी कड़ी में आईटीसी ने उत्तर भारत के लिए खास जूस उतारा है। जिसका नाम है पंजाब दा किन्नू जूस। यह खासतौर पर पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़ और उत्तर भारत के बाजार को ध्यान में रख कर बनाया गया है। बताया जा रहा है कि रामदेव के पतंजलि उत्पादों की भी उत्तर भारत में अच्छी खासी पैठ है और यहां पांच हजार करोड़ सालाना का टर्नओवर पार कर चुकी है। पतंजलि के जूस और दूसरे उत्पाद उत्तर भारत में खासे लोकप्रिय हैं। आईटीसी समेत सभी वंâपनियां इस अहम बाजार में अपने उत्पाद बेचने में जी जान लगा रही हैं और बाजार शेयर बढ़ने के लिए नए- नए तरीके अपना रही हैं और आईटीसी ने स्थानीय स्तर पर दांव खेला है। हालांकि आईटीसी की पूâड डिवीजन के डिविजनल चीफ एग्जीक्यूटिव वीएल राजेश का कहना है कि वंâपनी का जूस किसी से मुकाबला करने के लिए नहीं बनाया गया है, लेकिन वो इतना जरूर मानते हैं की वंâपनी को प्रतिद्वंदियों की स्ट्रेटेजी पर नजर तो रखनी ही पड़ती है।