भारत को कच्चा तेल का आयात और बढ़ाएगा ईरान


नई दिल्ली। भारत को प्रतिदिन लगभग ३,५०,००० बैरल कच्चे तेल का आयात करने वाला ईरान अब इसकी मात्रा और बढ़ाने पर विचार कर रहा है। कुछ माह पहले अमेरिका और यूएन की ओर से रोक हटाए जाने के बाद ईरान ने अपने कच्चे तेल के उत्पादन में प्रतिदिन ५ लाख बैरल प्रति दिन तक का इजाफा किया था, जिसके बाद से वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का दौर बना हुआ है। भारत के पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात के बाद ईरानी समकक्ष बिजान जांगानेह ने कहा कि हम भारत को और अधिक तेल बेचना चाहते हैं। ईरान के इस कदम से भारत को कम दाम में तेल मिलने की संभावना बढ़ गई है।
जांगानेह ने कहा कि फिलहाल ईरान प्रतिदिन ३,५०,००० बैरल तेल भारत को निर्यात करता है। हम इसकी मात्रा को बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं। उम्मीद है कि भारत को तेल का निर्यात बढ़ाने में हमें सफलता मिलेगी, हम पर जो प्रतिबंध लगे थे, वह हटा लिए गए हैं। दोनों मंत्रियों के बीच तेल के निर्यात को लेकर आपसी समझौते पर भी हस्ताक्षर किए गए। प्रधान ने कहा कि भारत चाहबहार पोर्ट पर २० अरब डॉलर का निवेश करने को तैयार है। ईरान और भारत के ऊर्जा संबंध अब कच्चे तेल के आयात तक ही सीमित नहीं रहेंगे। जांगानेह ने कहा कि भारतीय वंâपनियां तेल, गैस और पेट्रोवैâमिकल परियोजनाओं में निवेश करने पर विचार कर रही हैं। लेकिन यह आसान काम नहीं है, इसके लिए समय भी चाहिए।