भारतीय बैंकों को 2019 तक 6 लाख करोड़ पूंजी चाहिएः फिच


नई दिल्ली। रेिंटग एजेंसी फिच ने कहा कि वैश्विक पूंजी नियमों को पूरा करने के लिए भारतीय बैंकों को २०१९ तक ६ लाख करोड़ रुपए पूंजी की जरूरत है। फिच ने कहा कि सरकार का १३ सरकारी बैंकों को २२,९०० करोड़ रुपए देने के पैâसले से बैंकों की व्रेâडिट प्रोफाइल मजबूत होगी। फिच ने कहा कि हालांकि सरकार के इस कदम से आर्थिक विकास के कारण बैंकों पर पड़ रहे दबाव और परिसंंपत्ति गुणवत्ता दबाव पर असर नहीं पड़ेगा। फिच के मुताबिक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की व्रेâडिट प्रोफाइल पर दबाव जारी रहेगा और २०१९ तक बैंकों को सरकार की ओर तय किए गए ७० हजार करोड़ रुपए निवेश की जरूरत पड़ेगी। फिच के मुताबिक १३ बैंकों को अलावा दूसरे बैकों को भी अतिरिक्त पूंजी की जरूरत है। सरकार ने जितनी पूंजी पिछले साल सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में डाली थी। उससे दोगुना घाटा पिछले साल सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का रहा। इस वजह से कई सार्वजनिक क्षेत्र बैंकों की लोन बुक पर भी दबाव देखने को मिला।