पतंजलि को मिला विदेशी कंपनी से ऑफर


नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय बाजार में बाबा रामदेव की पतंजलि की सफलता को देखते हुए अब एक फ्रांसिसी लग्जरी ग्रुप एल.वीएमएच ने पतंजलि आयुर्वेद में हिस्सेदारी लेने में दिलचस्पी दिखाई है। एल कैटर्टन एशिया के मैनेजिंग पार्टनर रवि ठाकरान का कहना है ‎कि हम अगर कोई मॉडल ढूंढ पाएं तो उनके साथ जरूर कारोबार करना चाहेंगे। उन्होंने कहा ‎कि उनके मॉडल में बहुराष्ट्रीय और विदेशी निवेश की गुंजाइश नहीं है, ऐसा मुझे लगता है। एलवीएमएच की हिस्सेदारी वाला एल कैटर्टन प्राइवेट इक्विटी फंड अपने एशिया फंड में 50 करोड़ डॉलर से पतंजलि में हिस्सेदारी खरीदने को तैयार है। पतंजलि पिछले कुछ वर्षों में देश की बड़ी एफएमसीजी कंपनियों में शामिल हो गई है। उन्होंने कहा कि पतंजलि अपने प्रॉडक्ट्स अमरीका, जापान, चीन, दक्षिण कोरिया और यूरोप में भी बेच सकती है और एल कैटर्टन इसमें उसकी मदद करेगी। पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण कहते है ‎कि हम कंपनी में हिस्सेदारी नहीं बेचना चाहते। पतंजलि भारतीय करेंसी में 5,000 करोड़ रुपए का कर्ज लेना चाहती है। कंपनी को बैंकों से कम रेट पर कर्ज मिलने की उम्मीद है।