एयर इंडिया को दोहरी भूमिका बाजार में विकृति पैदा कर रही है


नई दिल्ली। स्पाइसजेट के नये प्रमोटर अजय सिंह ने एयर इंडिया के सरकार के स्वामित्व पर सवाल उठाते हुए कहा है कि एयर लाइन ऑपरेटर और रेग्युलेटर नियामक की दोहरी भूमिका से मार्वेâट में विकृति पैदा हो रही है।
स्पाइसजेट के सह संस्थापक, जिन्होंने पिछले महीने बजट वैâरियर में कलानिधि मारन के अधिकांश शेयर खरीदे हैं का कहना है कि वे नहीं मानते कि एक ही आर्थिक क्षेत्र में ऑपरेटर और रेग्युलेटर की भूमिका काम कर सकती है। उन्होंने कहाकि रेग्युलेटर के साथ ही ऑपरेटर बने रहने की वजह से मार्वेâट में विकृति की स्थिति पैदा हो रही है। लोकसभा चुनावों के दौरान भाजपा के लिए अबकी बार मोदी सरकार का नारा देने वाले सिंह का कहना है कि यदि सरकार की भूमिका नीति नियामक की है तो उसे किसी एयर लाइन का स्वामी होना चाहिए। एयर इंडिया के निजीकरण की मांग यदा कदा उठती रही है जो पूरी तरह सरकार की कृपा पर टिकी है।