एच-१बी मुद्दा प्रभावित करेगा भारत-अमेरिका रक्षा व्यापार


नई दिल्ली। एच-१बी वीजा शुल्क दोगुना करने के पैâसले से भारत और अमेरिका के बीच रक्षा उपकरणों की खरीद पर असर होगा क्योंकि इस पहल से देश का सूचना प्रौद्योगिकी निर्यात प्रभावित होगा जिससे अमेरिकी सैन्य उपरकण खरीदने के लिए धन सृजन होता है। अमेरिकी उद्योगों की वकालत करने वाले एक समूह ने यह चेतावनी दी है। अमेरिका भारत व्यापार परिषद के अध्यक्ष, मुकेश अघी ने कहा, ‘यदि एच-१बी मुद्दे से भारत का निर्यात प्रभावित होता है तो इसका अमेरिका से भारत द्वारा रक्षा उपकरणों की खरीद पर असर होगा क्योंकि भारत विश्व में सैन्य उपकरणों के सबसे बड़े खरीदारों में से एक है।’ उन्होंने कहा, ‘भारत अमेरिका को ६० अरब डालर से कुछ अधिक सूचना प्रौद्योगिकी सेवा का निर्यात करता है। यह भारत से अमेरिका को होने वाला बड़ा निर्यात है।’