अमेरिका के सुरक्षा प्रमुख का बयान, ईरान को आखिरी बूंद तक निचोड़ा जाएगा


अमेरिका के जॉन बोल्टन ने कहा है कि उनका देश ईरान को इतना निचोड़ देगा कि उसके अंदर केवल गुठली ही बची रह जाएगी।

सिंगापुर। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने एक बार फिर कहा है कि उनका देश ईरान को इतना निचोड़ देगा कि उसके अंदर केवल गुठली ही बची रह जाएगी। बोल्टन ने यह बात उस समय में कही है, जब एक सप्ताह पहले ही ईरान पर कड़े प्रतिबंध लागू हुए हैं। गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ परमाणु समझौते से बाहर निकलकर एकतरफा प्रतिबंध लगाए हैं। बोल्टन ने कहा, मुझे लगता है कि ईरान की सरकार वास्तविक दबाव में है और हमारा उद्देश्य उन्हें निचोड़ कर रख देना है। जैसा कि अंग्रेज कहते हैं तब तक निचोड़ों जब तक की गुठली न चीखने लगे। उन्होंने कहा कि हम प्रतिबंधों को और बढ़ाने जा रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि ईरान के साथ परमाणु समझौते में शामिल अन्य पक्ष अमेरिका के प्रतिबंधों का विरोध कर रहे हैं। विरोध करने वाले ये देश ब्रिटेन, फ्रांस, चीन और रूस हैं। ये देश समझौते को जारी रखना चाहते हैं। संयुक्त राष्ट्र निरीक्षकों का भी मानना है कि ईरान समझौते की शर्तों पर बना हुआ है। इस मुद्दे पर सऊदी अरब अमेरिका का एकमात्र समर्थक है। अमेरिका ने 2015 में ईरान से प्रतिबंध हटाए थे लेकिन राष्ट्रपति ट्रंप ने दोबारा प्रतिबंध लागू कर दिए हैं।

वहीं अमेरिका ने ईरान पर लगाए गए प्रतिबंधों से 8 देशों को अस्थाई छूट दी है। बता दें कि इन देशों में भारत भी शामिल है। भारत के अलावा चीन, दक्षिण कोरिया, जापान, इटली, ग्रीस, ताइवान और तुर्की को इन प्रतिबंधों से छूट दी गई है। खास बात यह है कि छूट पाने वाले ये 8 देश ईरान के तेल निर्यात का कुल 75 फीसदी खपत करते हैं।

– ईएमएस