नन ने वैटिकन के राजदूत के पास न्याय की गुहार लगाई


रोमन कैथोलिक पादरी पर बलात्कार के आरोप का मामला

कन्नूर । रोमन कैथोलिक पादरी पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली नन ने भारत में वैटिकन के राजदूत के पास न्याय की गुहार लगाई है। पीड़ित नन ने वैटिकन राजदूत के पास याचिका दायर करते हुए लिखा है कि पादरी मामले को रफादफा करने के लिए राजनीति और मनी पावर का इस्तेमाल कर रहे हैं। नन ने अपनी याचिका में उन्हें पादरी के पद से बर्खास्त करने की भी मांग की है।

जियामबटिस्टा दिक्वॉत्रो (भारत में वैटिकन राजदूत) को लिखे अपने पत्र में पीड़ित नन ने लिखा ‎कि वह न्याय के लिए चर्च प्राधिकरण के पास आई हैं। अपने इस पत्र में नन ने लिखा कि उसने यह पत्र वैटिकन राजदूत को इसलिए लिखा है क्योंकि भारत में पवित्र कामों में चर्च का प्रतिनिधित्व वह ही करते हैं। इसलिए इस मामले में उनके तुरंत दखल देने की जरूरत है। इस पत्र में नन ने जालंधर के पादरी फ्रांको मुलाक्कल और उनके करीबियों पर आरोप लगाया कि वे सभी अपनी ताकत का इस्तेमाल कर मामले को भटकाने का प्रयास कर रहे हैं। अपने रसूख से ये लोग पुलिस की जांच को प्रभावित कर रहे हैं। इस बीच आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने सफाई देते हुए कहा ‎कि पुलिस ने मुझसे 9 घंटे तक पूछताछ की। उन्होंने नन का भी बयान लिया और उसमें विरोधाभास था। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि कौन सच बोल रहा है?