लापता पत्रकार जमाल खशोगी मामला : अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप करेंगे सऊदी सुल्तान से बात


(तस्वीर साभार - aljazeera.com)

वाशिंग्टन। सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी को लापता हुए दस दिन से भी अधिक का समय बित चुका है। लेकिन उनके विषय में अभी कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आई है।

ऐसे में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि वह सऊदी अरब के लापता पत्रकार जमाल खाशोग्गी को लेकर सऊदी अरब के सुल्तान सलमान से बात करेंगे।

ट्रंप ने ओहायो में संवाददाताओं से कहा, “मैं कुछ मुद्दों पर किंग सलमान से चर्चा करूंगा। बहुत सारे लोग इस बारे में जानना चाहते हैं और यह बहुत भयावह स्थिति है।”

ट्रंप ने कहा कि अभी कोई भी इसके बारे में कुछ नहीं जानता।

जमाल खशोगी की मंगेतर की मदद की गुहार

जमाल खशोगी की मंगेतर हेटिस सेन्गीज ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मदद की गुहार की थी। उन्होंने अपील करते हुए कहा था कि वे पता लगाए कि उनके मंगेतर कहां हैं और उनके साथ रियाद में क्या हुआ।

सऊदी अरब ने संयुक्त टीम के गठन का स्वागत किया

सऊदी अरब ने लापता पत्रकार जमाल खशोगी मामले की जांच के लिए संयुक्त टीम के गठन के आग्रह को तुर्की द्वारा मंजूरी दिए जाने का स्वागत किया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, इस संयुक्त टीम में दोनों देशों के विशेषज्ञ शामिल होंगे।

सऊदी अरब ने जारी बयान में तुर्की के इस सकारात्मक कदम की सराहना करेत हुए संयुक्त टीम में पूर्ण विश्वास जताया है।

२ अक्टूबर को हुए थे लापता

सऊदी अरब के पत्रकार खशोगी दो अक्टूबर से लापता हैं। वह इस्तांबुल में सऊदी दूतावास में गए थे, उसके बाद से ही वह लापता हैं। कहा जा रहा है कि वे अपने तलाक के दस्तावेजों को प्राप्त करने दूतावास गये थे। दूतावास में जाते हुए उन्हें सीसीटीवी फूटेज में भी देखा जा सकता है।

दूतावास के अंदर ही हत्या का आरोप

वहीं तुर्की सरकार ने कहा था कि पुलिस का मानना है कि जमाल को दूतावास के अंदर ही मार दिया गया गया। हालांकि रियाद पुलिस ने इस दावे को आधारहीन बताकर खारिज कर दिया।

क्राऊन प्रिंस के आलोचक थे जमाल

खाशोग्गी सऊदी क्राऊन प्रिंस के आलोचक माने जाते थे। उन पर सऊदी में गिरफ्तारी की तलवार भी लटक रही थी, इसीलिये गिरफ्तारी से बचने वे अमेरिका में रह रहे थे।

–आईएएनएस