भारत ने तेल खरीदने के लिए ईरान को दिया ऑर्डर


भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने नवंबर माह के दौरान कच्चे तेल की आपूर्ति के लिए ईरान को पहले ही अपना ऑर्डर जारी कर दिया है।
Photo/peterlbrandt.com

अमेरिकी प्रतिबंधों को किया दरकिनार

सिंगापुर (ईएमएस) । भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने नवंबर माह के दौरान कच्चे तेल की आपूर्ति के लिए ईरान को पहले ही अपना ऑर्डर जारी कर दिया है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय में संयुक्त सचिव (अंतरराष्ट्रीय सहयोग) संजय सुधीर ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की हमारी कंपनियां नवंबर महीने के लिए ईरान को पहले ही ऑर्डर दे चुकी हैं।

भारतीय रणनीतिक पेट्रोलियम आरक्षित भंडारण कार्यक्रम चरण दो (आईएसपीआर) में निवेश अवसरों के बारे में जानकारी देने के बाद सुधीर ने कहा कि ऐतिहासिक रूप से भारत के लिए ईरान कच्चे तेल का मुख्य आपूर्तिकर्ता रहा है। सुधीर ने कहा कि ईरान के साथ लेन-देन को लेकर अमेरिका की पाबंदी से छूट को लेकर भारतीय अधिकारी वहां की सरकार के साथ बातचीत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आपूर्ति बिंदुओं पर पाइपलाइन और टर्मिनल ढांचागत सुविधा के कारण अमेरिका से कच्चे तेल की आपूर्ति बंद है। आईएसपीआर-दो के बारे में सुधीर ने कहा कि हम सार्वजनिक निजी भागीदारी मॉडल की संभावना टटोल रहे हैं।

उल्‍लेखनीय है कि अमेरिका ने ईरान पर 5 नवंबर से प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है और अपने सभी सहयोगी देशों से ईरान से तेल आयात बंद करने को कहा है। ऐसा न करने वाले देशों के खिलाफ अमेरिका ने सख्‍त कार्रवाई की चेतावनी भी दी है। बावजूद इसके भारत ने ईरान से तेल खरीदने का ऑर्डर जारी किया है। भारत को कच्चे तेल की कुल आपूर्ति में 65 प्रतिशत पश्चिम एशियाई देश इराक, सऊदी अरब और ईरान से आता है। दो अन्य प्रमुख आपूर्तिकर्ता वेनेजुएला और नाइजीरिया हैं।